मेरठ, जागरण संवाददाता। मेरठ के दौराला स्टेशन के फाटक संख्या-35 पर शुक्रवार देर शाम नौचंदी ट्रेन का हादसा होने से बच गया। फाटक के स्थाई बैरियर पर हो रहे रिपेयरिंग कार्य के दौरान चेतावनी सूचना बैरियर पटरी पर रखा था। तभी नौचंदी ट्रेन वहां पहुंच गई और लोको पायलट ने अपनी सूझबूझ से ट्रेन रोकी। जिससे हादसा होने से बच गया।

स्थाई बैरियर रिपेयरिंग का हो रहा था काम

शुक्रवार देर शाम मुजफ्फरनगर की ओर से नौचंदी ट्रेन मेरठ की तरफ जा रही थी। दौराला स्टेशन पर ट्रेन रूकी और कुछ देर बाद अपने गंतव्य की ओर रवाना हो गई। दौराला-सरधना रोड स्थित रेलवे फाटक संख्या-35 पर स्थाई बैरियर रिपेयरिंग करने व अन्य कार्य हो रहे थे। मौके पर गार्ड सत्यम भी मौजूद था। रेलवे सूत्रों की मानें तो इसी बीच नौचंदी ट्रेन फाटक पर पहुंच गई। हालांकि फाटक पर रखे चेतावनी सूचना बैरियर से ट्रेन टकरा गई।

कर्मियों को लगाई जमकर फटकार

मामले को देख ट्रेन के लोकोपायल उतरे और गार्ड समेत काम कर रहे कर्मचारियों को जमकर फटकार लगाई। लोको पायलट ने गार्ड समेत अन्य कर्मचारियों के नाम नोट किए और ट्रेन में सवार होकर वहां से मेरठ की ओर चले गए। ट्रेन संग हादसा होने से बचा, इसकी सूचना पर आसपास के व्यापारी और क्षेत्रवासी मौके पर पहुंचकर जानकारी की।

इनका कहना है

नौचंदी ट्रेन को दौराला स्टेशन से हमने ही रवाना किया था। ऐसी सूचना स्टेशन तक नहीं मिली है। फिर भी जानकारी के बाद आगे की कार्रवाई होगी।

- सनी कुमार, स्टेशन मास्टर-दौराला।

विश्व रेलवे क्रास कंट्री के लिए दिनेश बने रेलवे के मुख्य कोच

दौराला के टांडा गांव के रहने वाले दिनेश कुमार मीणा को विश्व रेलवे क्रास कंट्री दौड़ प्रतियोगिता का मुख्य कोच नियुक्त किया गया। यह प्रतियोगिता जर्मनी के बर्लिन में आयोजित की जाएगी। दिनेश रेलवे में चीफ टिकट इंस्पेक्टर के पद पर दिल्ली में तैनात हैं। इंद्रपाल सिंह ने बताया कि दिनेश कुमार मीणा उनके चाचा हैं और हजरत निजामुद्दीन स्टेशन पर तैनात हैं। दिनेश रेलवे विभाग की ओर से क्रास कंट्री दौड़ के खिलाड़ी हैं।

रजत पदक भी जीत चुके

भारतीय रेलवे के लिए करीब 35 बार क्रास कंट्री प्रतियोगिताओं के लिए क्वालीफाई कर चुके हैं। विश्व क्रास कंट्री एशियाड प्रतियोगिता में दिनेश रजत पदक भी जीत चुके हैं। उन्होंने बताया कि जर्मनी के बर्लिन शहर में 22 जुलाई से 25 जुलाई तक आयोजित विश्व क्रास कंट्री प्रतियोगिता के लिए रेलवे विभाग से 200 खिलाड़ी जा रहे हैं। यह प्रतियोगिता विश्व रेलवे की ओर से हर साल अलग-अलग देशों में आयोजित की जाती है। भारत सरकार द्वारा दिनेश कुमार मीणा को टीम का मुख्य कोच नियुक्त किए जाने पर उनके स्वजन और ग्रामीणों में खुशी है।

Edited By: Prem Dutt Bhatt