मेरठ, जेएनएन। जुमे की नमाज को लेकर पुलिस ने अलर्ट घोषित कर दिया है। सभी से अपील की गई है कि घरों में ही नमाज अदा करें। शहर काजी और कारी ने पुलिस को भरोसा दिलाया कि कोई भी व्यक्ति मस्जिद में नमाज अदा करने नहीं जाएगा। सभी अपने-अपने घरों पर नमाज अदा करेंगे। कुछ लोगों से पुलिस ने हस्ताक्षर भी लिए हैं कि जुमे की नमाज घर पर ही अदा करेंगे।

अफसरों ने की बैठक

कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन चल रहा है। ऐसे में मुस्लिम समाज के लोगों से जुमे के दिन भी घरों पर रहने की अपील की जा रही है। गुरुवार को लिसाड़ीगेट, नौचंदी, ब्रह्रमपुरी और कोतवाली पुलिस ने क्षेत्रों में मुस्लिम लोगों से संपर्क किया। बताया गया कि कोरोना वायरस के लिए सुरक्षा का घेरा नहीं तोड़ना है। अफसरों ने भी धर्म गुरुओं के साथ जुमे की नमाज को लेकर मीटिंग की। सभी लोगों को जुमे की नमाज के लिए घरों पर रहने का मैसेज भी धर्मगुरु दे चुके हैं। इसके बावजूद नमाज को लेकर पुलिस ने अतिरिक्त ड्यूटी लगा दी है। जुमे पर सुबह नौ बजे से ही मुस्लिम बहुल क्षेत्रों में पुलिस बल तैनात रहेगा। आरआरएफ की दो कंपनी इन्हीं क्षेत्रों में तैनात की गई हैं।

इनका कहना है

कोरोना वायरस के चलते पूरा देश लॉकडाउन है। ऐसे में जनपद में किसी को भी घर से नहीं निकलने दिया जाएगा। सभी लोगों से अपील की जा रही है कि घर के अंदर ही नमाज अदा करें। कानून तोड़ने वाले पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा। घर से निकलने वालों से पुलिस सख्ती से निपटेगी।

- अजय साहनी, एसएसपी

मुस्लिम लोग घरों में अदा करें नमाज : नायब शहर काजी

नायब शहर काजी जैनुर राशिदीन ने मस्जिद के इमामों व मुस्लिमों से अपील की है कि कोरोना वायरस से बचाव व रोकथाम के लिए बेहद सावधानी बरतनी जरुरी है। उन्होंने खासतौर पर जुमे की नमाज को घरों पर ही अदा करने की अपील की है। साथ ही मस्जिदों में केवल इमाम व कार्यकर्ता को ही नमाज अदा करने की अपील की है। मस्जिदों की धुलाई के साथ वजू करने से पहले साबुन से हाथ धोने की अपील की गई है। नायब शहर काजी ने चिकित्सकों की हिदायत पर अमल करने की बात कही है। उन्होंने बच्चों को बाहर न निकलने व गरीबों की सहायता करने की अपील भी की है। 

Posted By: Prem Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस