मुजफ्फरनगर, जागरण संवाददाता। नगर पालिका मुजफ्फरनगर को स्वच्छ सर्वेक्षण में पुरस्कार मिलने की उम्मीद है। एक अक्टूबर को दिल्ली में स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 के पुरस्कारों की घोषणा की जाएगी। इसके लिए प्रदेश के 11 नगरीय निकायों को वहां के तालकटोरा स्टेडियम में स्वच्छ सर्वेक्षण पुरस्कार के लिए बुलाया गया है। इनमें मुजफ्फरनगर नगर पालिका भी शामिल है। 

स्वच्छ शहर संवाद अमृत महोत्सव का होगा आयोजन

आजादी के अमृत महोत्सव के तहत 29 से 30 सितंबर तक स्वच्छ शहर संवाद अमृत महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। एक अक्टूबर को स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 की रैकिंग जारी की जाएगी। 29 सितंबर से पहली अक्टूबर तक दिल्ली में कार्यशाला होगी, जिसमें जनपद का प्रतिनिधित्व भी रहेगा। कार्यक्रम में नगर पालिका को अवार्ड मिल सकता है। कार्यक्रम के बारे में संयुक्त सचिव एवं स्वच्छ भारत मिशन की मिशन निदेशक रूपा मिश्रा ने पत्र जारी किया है। 

पालिका के ठोस अपशिष्ट और तरल अपशिष्ट प्रबंधन पर होगी चर्चा

दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में होने वाले कार्यक्रम में नगरपालिका ठोस अपशिष्ट और तरल अपशिष्ट के प्रबंधन से संबंधित विषयों पर चर्चा होगी, ताकि शहरों को अपनी रणनीतियों पर विचार-विमर्श करने में सक्षम बनाया जा सके। कचरा मुक्ति पर कार्यक्रम में जोर रहेगा। अपशिष्ट प्रबंधन में सर्वश्रेष्ठ माडल भी प्रदर्शित किए जाएंगे। शासन की ओर से इस बारे में ईओ को भी पत्र जारी किया गया है। दो दिवसीय कार्यक्रम के बाद पहली अक्टूबर को ग्रैंड फिनाले होगा। स्वच्छता के लिए अच्छा कार्य करने वाली नगर पालिकाओं को अवार्ड मिलेगा। कार्यक्रम में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का आगमन भी होगा। 

मुजफ्फरनगर पालिका ने स्वच्छता के लिए किए हैं प्रयास 

बता दें कि शहरी में स्वच्छता के लिए कई स्तर से प्रयास हुए हैं। गीला और सूखा कूड़ा अलग-अलग करने के लिए कालोनियों में बाक्स रखे गए हैं। वहीं कूड़ा निस्तारण के लिए किदवईनगर में स्थित प्लांट पर कार्य चल रहा है। कूड़े से बिजली बनाने का कार्य प्रक्रिया में है। दो दिन पूर्व ही संबंधित कंपनी के प्रतिनिधि डीएम चंद्र भूषण सिंह से मिले थे। काली नदी पर पुल निर्माण के लिए शासन से बजट की मांग की गई है। 

Edited By: Parveen Vashishta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट