मेरठ, जागरण संवाददाता। Murder In Meerut सोनिका की एक साल की दोस्ती को प्यार समझ बैठे हनी ने शादी का प्रस्ताव भी रख दिया था। सोनिका ने हनी के प्रस्ताव को ठुकरा दिया, बल्कि अपने परिवार से हनी की शिकायत भी की। उसके बाद सोनिका के परिवार ने हनी को डांट फटकार भी लगाई थी। हनी और सोनिका की काल डिटेल से सामने आया कि 11 नवंबर को दोनों ने आपस में मिलने के लिए कोई बातचीत नहीं की। बल्कि सोनिका के ड्यूटी पर जाने का समय हनी को पता था। इसलिए वह बाइक लेकर पहले से ही बस स्टैंड पर खड़ा हुआ था।

अटेरना के जंगल ले गया था सोनिका को

सोनिका के बस स्टैंड पर पहुंचने के बाद उसे बाइक पर बैठाकर अपने साथ ले गया था। उसके बाद अटेरना के जंगल में ले गया था। 45 मिनट बाद ही हनी बाइक पर सवार होकर अकेला ही वापस लौट गया। दबथुवा निवासी हनी बीए की पढाई करने के बाद एयरफोर्स भर्ती की कोचिंक कर रहा था। उसने रिटर्न उत्तीर्ण भी कर लिया था। हनी का साथी परिवहन निगम में तैनात है। अक्सर ही भैंसाली बस स्टैंड पर हनी अपने साथी से मिलने जाता था। वहीं पर पाली गांव निवासी सोनिका भी बतौर क्लर्क पद पर तैनात थी। हालांकि उससे पहले सोनिका बस परिचालक की नौकरी कर चुकी थी।

यह भी पढ़ें : Meerut News: शिकायत लेकर पहुंची महिला से बोले राज्यमंत्री असीम अरुण-अम्मा रोइए मत, अब सरकार आपके साथ है

सोनिका के सामने रखा था शादी का प्रस्‍ताव

हनी और सोनिका के गांव जाने का रास्ता एक ही था। सोनिकाऔर हनी की आपस में दोस्ती हो गई। उसके बाद दोनों गांव में एक बाइक पर ही आने जाने लगे। इंस्पेक्टर जितेंद्र कुमार के मुताबिक, हनी ने सोनिका के सामने शादी का प्रस्ताव रख दिया। मामला सोनिका के परिवार तक पहुंचा तो हनी को डांट फटकार लगाई गई। उसके बाद सोनिका ने हनी से मिलना भी बंद कर दिया। दोनों की काल डिटेल से सामने आया कि कुछ दिनों तक बातचीत भी बंद हो गई।

यह भी पढ़ें : Commissionerate System: कमिश्नरी प्रणाली में भी छला गया मेरठ, लेकिन अपराधों पर कंट्रोल के लिए यह सिस्‍टम जरूरी

14 दिनों तक होती रही तलाश

उसके बाद 11 नवंबर को हनी बस स्टैंड से सोनिका को बाइक पर बैठाकर अपने साथ ले गया। सोनिया की स्कूटी को कालंद चुंगी पर खड़ा करा दिया था। उसके बाद सोनिका का कोई पता नहीं चला। लगातार चौदह दिनों तक सोनिका की तलाश में नहर और जंगल की खाक छानी गई। शुक्रवार को अटेरना गांव के जंगल में झाड़ी के अंदर सोनिका का शव मिल गया।

दो वर्ष पहले हुआ था प्रमोशन

अभिषेक सोम ने बताया कि उसकी बहन सोनिका पहले परिचालक के पद पर तैनात थी। करीब दो वर्ष पहले उनका प्रमोशन हुआ था। आरोपित का दोस्त भी रोडवेज में है। इसके चलते ही आरोपित उसकी बहन पर शादी के लिए दबाव बना रहा था। सोनिका के इन्कार करने पर ही हनी ने वारदात को अंजाम दिया है।

ये बोले एसएसपी

सोनिका का शव मिलने के बाद पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। सीसीटीवी फुटेज से सामने आया कि हनी उसे बाइक पर बैठाकर अपने साथ ले गया था। उसने जंगल में ले जाकर सोनिका की हत्या कर दी। उसके बाद साढ़े तीन बजे अपने घर पहुंचकर खुद को गोली मार ली। हनी का उपचार चल रहा है। अभी तक बातचीत करने की स्थिति में नहीं है। पुलिस मुकदमे में हत्या की धारा बढ़ाकर हनी को नामजद कर रही है।

- रोहित सजवाण, एसएसपी

यह भी पढ़े : मेरठ में शादी से इन्कार करने पर युवती की हत्या, खुद को भी गोली मारी, चौदह दिन बाद मिला शव

Edited By: PREM DUTT BHATT

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट