मेरठ, जागरण संवाददाता। Meerut Crime News परिवहन निगम में तैनात सरधना की महिला क्लर्क सोनिका सोम की हत्या में आइसीयू में भर्ती हनी सिंह को आरोपित बना दिया है। उसके खिलाफ अपहरण, हत्या और साक्ष्य छिपाने की धारा में रिमांड तैयार किया गया है। पुलिस को जानकारी मिली है कि युवती के परिजन उसकी शादी करने की जुगत में थे। इसी के चलते हनी ने उसे भैंसाली बस स्टैंड पर छोड़ने का झांसा देकर बाइक पर बैठाया और अटेरना के जंगल में लाकर हत्या कर दी।

झांसा देकर बाइक पर बैठा लिया था

शव को पोस्टमार्टम के बाद परिवार को सौंप दिया है। पाली गांव निवासी 27 वर्ष सोनिका सोम पुत्री लाखन सिंह परिवहन निगम में क्लर्क थीं। हाल में सोनिका की तैनाती सदर बाजार थाना क्षेत्र के भैंसाली बस डिपो में चल रही थीं। इंस्पेक्टर जितेंद्र कुमार ने बताया कि 11 नवंबर को सोनिका सोम घर से स्कूटी पर सवार होकर ड्यूटी के लिए निकली थी। तभी हनी सिंह ने झांसा देकर सोनिका सोम को अपनी बाइक पर बैठा लिया। पुलिस के मुताबिक, अटेरना के जंगल में ले जाकर सोनिका की हत्या कर शव को झाड़ी में फेंक दिया। उसके बाद घर पहुंचकर खुद को गोली मार ली।

यह भी पढ़ें : मेरठ में लाखों रुपये की चोरी का मामला, नेपाल के काठमांडू पहुंचकर बल बहादुर ने किया पासपोर्ट के लिए आवेदन

सुधार आने पर पकड़ा जाएगा हनी को

फिलहाल आरोपित हनी सिंह आनंद अस्पताल के आइसीयू में भर्ती है। पुलिस ने हनी सिंह को सोनिका सोम के अपहरण, हत्या और शव छिपाने का आरोपित बनाया है। इंस्पेक्टर का कहना है कि अस्पताल से हालत में सुधार आने के बाद ही हनी को पकड़ा जाएगा। शनिवार को पुलिस ने सोनिका सोम के शव का पोस्टमार्टम कराकर परिवार को सौंप दिया है।

महिला क्लर्क को हस्तिनापुर भी ले गया था आरोपित

पुलिस की जांच में सामने आया कि पहले भी आरोपित हनी सिंह महिला क्लर्क सोनिका सोम को झांसा देकर हस्तिनापुर में घूमाने ले गया था। उस समय हनी और सोनिका में दोस्ती थी। हनी ने सोनिका से शादी करने की जिद की थी। तब मामला सोनिका के परिवार तक पहुंचा था। उसके बाद सोनिका के परिवार ने हनी को धमकी देकर उससे दूर रहने की सलाह दी थी। तभी से हनी ने सोनिका की हत्या का प्लान बना लिया था। हनी को शक था कि परिवार के लोग उसकी दूसरी शादी करने जा रहे है।

मोबाइल सीडीआर भी जाचेंगे

एसपी देहात केशव कुमार का कहना है कि पुलिस दोनों की मोबाइल सीडीआर भी निकाल रही है। उनके मोबाइल से भी कुछ साक्ष्य मिले है, जिन्हें मुकदमे में लगाया जाएगा। ताकि आरोपित को सजा दिलाई जा सकें। शनिवार को सोनिका का शव घर पर पहुंचने के बाद परिवार में कोहराम मच गया। परिवार के लोगों का कहना है कि आरोपित हनी को सजा दिलाएंगे। तभी उनकी बेटी की आत्मा को शांति मिलेगी।

यह भी पढ़ें :Bulandshahr: युवक ने नाम छिपाकर की युवती से दोस्ती, जबरन मतांतरण करा किया निकाह, सामूहिक दुष्कर्म का आरोप

Edited By: PREM DUTT BHATT

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट