मेरठ, जागरण संवाददाता। मेरठ में मोदीपुरम के कंकरखेड़ा के लाला मोहम्मदपुर रोड पर 24 जुलाई को कार में अपने पिता को गोली मारकर मौत के घाट उतारने वाले हत्यारोपित रोहित उर्फ मोंटू को पुलिस ने सोमवार देर शाम हाईवे से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने रोहित की निशानदेही पर 315 बोर का तमंचा और चार जिंदा कारतूस बरामद किए हैं। पुलिस से रोहित ने दो टूक कहा कि उसने अपने पिता सुकरमपाल की हत्या का खाका एक महीने बना लिया था। प्रोपर्टी को पिता दामाद-बेटी को न दें, इसी को ध्यान में रखते हुए हत्या की थी।

हत्‍या का केस दर्ज

कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र स्थित नंगलाताशी निवासी सुकरमपाल का गोली लगा शव 24 जुलाई की रात को लाला मोहम्मदपुर गांव रोड पर स्टार्ट स्विफ्ट कार से बरामद हुआ था। मृतक के सिर और सीने में दो गोली लगी थी। पुलिस ने कार का शीशा तोड़कर शव बाहर निकाला था। मृतक की पत्नी ने अपने बेटे रोहित उर्फ मोंटू और रोहित का दोस्त भदौड़ा गांव निवासी देवेंद्र के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कराया था। पुलिस ने सोमवार को हत्यारोपित रोहित उर्फ मोंटू को गिरफ्तार कर लिया।

रोहित को अपने पिता की हत्या करने का जरा भी अफसोस नहीं था। इंस्पेक्टर तपेश्वर सागर ने हत्याकांड़ का राजफाश करते हुए बताया कि रोहित की बहन और बहनोई उसी के घर पर रहते हैं। रोहित का डर था कि उसके पिता सारी प्रोपर्टी अपनी बेटी और दामाद के नाम कर देंगे, इसी डर से पिता की हत्या कर दी। एक महीने पहले हत्या का खाका तैयार कर लिया था। फरार देवेंद्र भी जल्द पकड़ा जाएगा।

पहली गोली मारते हुआ दुख, दूसरी गोली चलाते हुए अपने को संभाला

पुलिस पूछताछ में रोहित ने बताया कि वह अपने पिता की हत्या करने को काफी दिनों से फिराक में था, मगर मौका नहीं मिल पा रहा था। 24 जुलाई को मौका मिला तो कार में बैठाकर गोली मार दी। पहली गोली सिर में मारी तो पिता को मरता देख दुख हुआ। मगर, प्रोपर्टी हाथ से जाने की सोची तो दूसरी गोली सीने में उतार दी। उसक बाद कार की खिड़की बंद कर चला गया। तमंचे के बारे में बताया कि उसके पास कई महीनों से तमंचा था, जिसे उसने दो हजार रुपये में खरीदा था। पुलिस अब तमंचा बिक्री करने वाले की तलाश में जुटी है।

Edited By: Prem Dutt Bhatt