मेरठ, जेएनएन। नगर निगम अधिकारियों के साथ सांसद राजेन्द्र अग्रवाल ने गुरुवार को गांवड़ी स्थित कूड़ा निस्तारण प्लांट का निरीक्षण किया। करीब डेढ़ घंट प्लांट के विषय और कूड़ा निस्तारण से जुड़ी जानकारियां प्राप्त कीं। सांसद राजेन्द्र अग्रवाल बैलेस्टिक सेपरेटर प्लांट से अलग अलग निकल रहे आरडीएफ, कम्पोस्ट और ईंट पत्थर देखकर बोले...ये तो बहुत अच्छा प्लांट है। मशीन कचरे को छांट रही है।

सांसद बोले कोई समस्‍या हो तो बताएं

उन्‍होंने नगर आयुक्त डॉ अरविंद कुमार चौरसिया से कहा कि इस तरह का प्लांट शहर में और लगाओ। कहीं कोई समस्या आ रही हो तो अवगत कराई जाए। कहा कूड़ा निस्तारण शहर की सबसे बड़ी समस्या है। गांवड़ी में 150 टन प्रतिदिन सेग्रीगेशन का प्लांट शुरू होने से कुछ काम धरातल पर आया है। लेकिन ये भी ध्यान रखना होगा कि शहर में 900 टन कचरा प्रतिदिन उत्सर्जित हो रहा है। जिसके निस्तारण के लिए भी काम तेज गति से किया जाना आवश्यक है।

कचरे से जल्‍द ही बनेगी बिजली

नगर आयुक्त ने बताया कि आरडीएफ यहां से बिजली बनाने के लिए जाएगा। परतापुर में एक एजेंसी बिजली बनाने का संयंत्र लगा रही है। जल्द ही कचरे से बिजली भी बनने लगेगी। एक मेगावाट बिजली उत्पादित करने की अनुमति भी मिल गई है। उन्‍होंने बताया किगांवड़ी में डंप कचरे का निस्तारण एक माह में कर लिया जाएगा। जिसके बाद शहर का कचरा भी यहां आने लगेगा। इसके बाद लोहिया नगर में कूड़ा डंपिंग स्थल पर प्लांट लगाने की तैयारी है। सांसद ने प्लांट में निर्माणाधीन कमरों व अन्य व्यवस्था का भी जायजा लिया। इस दौरान सहायक नगर आयुक्त बृजपाल सिंह समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे। 

Posted By: Prem Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस