मेरठ, जेएनएन। कैंट एरिया की रुड़की रोड स्थित एक कालोनी से साइकिल से ट्यूशन जा रही सूबेदार की बेटी को सरेराह खींचा गया। आरोप है कि एमईएस (मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विस) विद्युत विभाग शिकायत ऑफिस में तैनात सिविल कर्मचारी ने दो साथियों संग वारदात को अंजाम दिया। बेटी का शोर सुनकर दौड़ी मां के साथ भी मारपीट की। सूबेदार की तहरीर पर तीन अज्ञात के खिलाफ छेड़छाड़, मारपीट और पॉक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

ऑफिस के अंदर खींचने की कोशिश

मूल रूप से मेरठ के एक गांव के रहने वाले सूबेदार रुड़की रोड स्थित एक कालोनी में परिवार के साथ रहते हैं। उनकी करीब 16 वर्षीय बेटी कंकरखेड़ा में ट्यूशन पढ़ती है। सूबेदार का आरोप है कि शनिवार को बेटी साइकिल से ट्यूशन जा रही थी। तभी आरोपित कर्मचारी ने छात्र के साथ छेड़छाड़ की। विरोध करने पर छात्र को अपने दो साथी कर्मचारियों के साथ ऑफिस के अंदर खींचने का प्रयास किया। बेटी का शोर सुनकर मां भी मौके पर पहुंच गई। आरोपितों के चंगुल से बेटी को छुड़वाया। आरोप है कि मां की भी पिटाई कर दी। पत्नी ने सूबेदार को पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी। सूबेदार ने सदर बाजार थाने में तहरीर दी। एसओ विजय गुप्ता ने बताया कि दोनों पक्षों को थाने बुलाकर पूछताछ की गई। रविवार को दिनभर दोनों पक्षों में समझौते के प्रयास हुए। देर शाम तक समझौता नहीं होने पर मुकदमा दर्ज कर लिया।

इनका कहना है

सूबेदार की तहरीर पर छेड़छाड़, मारपीट और पॉक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया है। छात्र के 161 सीआरपीसी में बयान दर्ज कराए जाएंगे। साथ ही तीनों आरोपितों की पहचान कर धरपकड़ के आदेश दिए हैं।

- अजय साहनी, एसएसपी

घर में घुसकर किशोरी से छेड़छाड़

लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र निवासी किशोरी रविवार रात घर में थी। आरोप है कि पड़ोसी युवक साथियों के साथ घर में घुस गया और उससे छेड़छाड़ की। शोर-शराबा होने पर उसकी मां आ गई। उसने आरोपितों का विरोध किया तो उन्होंने दोनों के साथ मारपीट कर दी। आरोप है कि उन्होंने महिला से कुंडल भी लूट लिए। इस दौरान चीख-पुकार मचने पर आसपास के लोग दौड़ पड़े। उनको आता देख आरोपित फरार हो गए। इसके बाद पीड़ित चौकी पहुंचे और शिकायत की। इस दौरान आरोपित वहां भी पहुंच गया और शिकायत करने पर धमकी दी। वहां सुनवाई नहीं होने पर पीड़ित पक्ष थाने पहुंचा। आरोप है कि आरोपित वहां भी पहुंच गया और धमकी दी। महिला का कहना है कि आरोपित पर एक दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। वह आपराधिक किस्म का है। पुलिस उनकी नहीं सुन रही है। घर पर जाते हुए भी डर लग रहा है, कहीं कोई घटना न हो जाए। 

Posted By: Prem Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप