मेरठ, जेएनएन। मवाना में इंसाफ नहीं मिलने पर जान देने वाली दुष्कर्म पीड़िता के शव को 12 घंटे तक घर पर रखकर स्वजनों व ग्रामीणों ने आक्रोश जताया। परिवार के लोगों ने आरोपित की गिरफ्तारी नहीं होने पर अंतिम संस्कार करने से इन्कार कर दिया। कई जनप्रतिनिधियों ने मशक्कत के बाद परिवार के लोगों को समझाया। उन्होंने आर्थिक मदद और 72 घंटे में आरोपित की गिरफ्तारी का भरोसा दिया। दोपहर बाद शव का अंतिम संस्कार किया गया।

60 साल का है आरोपित

आरोप है कि 19 जनवरी को मवाना के एक गांव में कक्षा दस की छात्र के साथ 60 साल के बृजपाल चौधरी ने दुष्कर्म किया था। इसका मुकदमा 25 जनवरी को लिखा गया। इसके बाद भी आरोपित की गिरफ्तारी नहीं हुई, बल्कि पीड़िता के पिता को पूर्व प्रधान ने पंचायत में थप्पड़ मारकर गांव से जाने का फरमान सुना दिया। इसी से क्षुब्ध होकर दुष्कर्म पीड़िता ने जान दे दी। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया। बुधवार रात को शव गांव में ले जाया गया। शव घर पर रखकर गांव के लोगों ने अंतिम संस्कार करने से इन्कार कर दिया। उनका आरोप था कि पुलिस की लापरवाही से छात्र की जान गई है। उन्होंने इंस्पेक्टर को निलंबित करने और आरोपित बृजपाल की गिरफ्तारी की मांग की। साथ ही पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद के रूप में 50 लाख देने की मांग रखी। इससे पुलिस अफसरों के हाथ-पांव फूल गए।

यह लोग पहुंचे गांव

इसी बीच भागीरथ सेना संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनू सुदर्शन, लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष राजू सैनी, बाक्सर जतिन सैनी, अखिल भारतीय मौर्य महासभा के जिलाध्यक्ष राजकुमार सैनी आदि गांव में पहुंच गए। उन्होंने पीड़ित परिवार को 50 लाख की आर्थिक मदद व दस बीघा जमीन का पट्टा दिलाने की मांग रखी। सपा नेता अतुल प्रधान व बसपा के सुनीत जाटव भी पहुंच गए। एसपी देहात अविनाश पांडेय व एसडीएम ऋषिराज ने 72 घंटे में आरोपित की गिरफ्तारी और दस लाख की आर्थिक मदद देने का भरोसा दिलाया। ग्रामीण न माने और तत्काल चेक की मांग पर अड़ गए।

पुलिस और महिलाओं में हुई धक्का-मुक्की

शव कब्जे में लेने को लेकर महिलाओं और पुलिस में धक्का-मुक्की हुई। भाजपा के पूर्व एमएलसी हरपाल सैनी, लावड़ के मंडलाध्यक्ष फौजी अनिल सैनी, विधायक सरधना प्रतिनिधि मिंटू उर्फ देवेंद्र प्रधान आदि ने स्थिति संभालते हुए मदद दिलाने व गिरफ्तारी की जिम्मेदारी ली। उसके बाद ही शव का अंतिम संस्कार किया गया।

शव पर घंटों सियासत

आंगन में रखे बेटी के शव को कफन में लिपटा देखकर पूरे परिवार की आंखों से आंसू सुख चुके थे। बुधवार की रात को शव के घर पहुंचने के बाद से परिवार बिलख-बिलख कर टूट चुका था। सुबह हुई तो शव पर सियासत होने लगी। कोई अंतिम संस्कार के लिए तो कोई आर्थिक सहायता दिलाने के लिए परिवार को शव नहीं उठने देने की बात कह रहा था। कभी दुष्कर्म पीड़िता के पिता को सत्ता पक्ष के लोग अपने पाले में लेते तो कभी विपक्ष के लोग उन्हें बेटी की मौत पर लड़ने की सलाह देते है। बात लखनऊ तक पहुंची तो पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद देने का भरोसा दिलाकर शव का अंतिम संस्कार हो गया। अब देखना है कि आरोपित गिरफ्तार होगा, या पुलिस सियासत का मौका देगी।

कई बार हंगामा और धक्‍कामुक्‍की

बुधवार की रात ही पोस्टमार्टम होकर शव घर पहुंच गया था। परिवार के लोग अंतिम संस्कार की तैयारी के बजाय आंगन में शव को रखकर विलाप कर रहे थे। उसके बाद विधायक संगीत सोम से जुड़े कार्यकर्ता पहुंचे। उन्होंने शव को अंतिम संस्कार करने के लिए कहा। इसी बीच सपा नेता अतुल प्रधान अपने कार्यकर्ताओं के साथ पहुंच गए। दोनों पक्षों में परिवार के लोग भी बंट गए। एक पक्ष अंतिम संस्कार की जिद करने लगा, जबकि दूसरा पक्ष आरोपित की गिरफ्तारी की मांग कर रहा था। आंगन से शव को उठाने के लिए कई बार हंगामा हुआ। धक्का मुक्की हुई।

न्‍याय नहीं मिला तो दूंगा जान

परिवार की महिलाएं तक सामने आ गई। उन्होंने शव को उठने से इन्कार कर दिया। बेटी के शव पर सियासत होते देख पिता ने कहा कि न्याय नहीं मिला तो पूरे परिवार के साथ जान दे दूंगा। तब लोग शांत हुए, उसके बाद सभी ने आरोपित की गिरफ्तारी की मांग की। छात्र के पिता ने मवाना खुर्द पुलिस चौकी इंचार्ज विरेंद्र के खिलाफ कार्रवाई और इंस्पेक्टर को सस्पेंड करने की मांग की। हालांकि वहां से इंस्पेक्टर विनय आजाद को लाइन हाजिर कर राजेंद्र त्यागी को थाना प्रभारी बनाया।

आरोपित के भाई की तीन आडियो वायरल

पीड़िता और आरोपित बृजपाल के भाई से बातचीत की तीन आडियो वायरल हुई है, जिसमें पीड़िता और आरोपित के भाई में लंबी बातचीत हो रही है, जिसमें पीड़िता खुद को सहारनपुर में अपने ताऊ के घर होने की बात कर रही है। साथ ही आरोपित को पिछले सात साल से बातचीत होने की बात स्वीकार रही है। उसने यह भी कहा कि 27 जनवरी को आत्महत्या का प्रयास कर चुकी है। पंखे पर लटक जान देने की कोशिश की। 

Posted By: Prem Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस