मेरठ, जेएनएन। सीसीएसयू की छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में रविवार को भी उसके बयान नहीं हो सके। छात्रा अभी पूरी तरह से होश में नहीं है। उसकी सुरक्षा के लिए तीन पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। वहीं, छात्र का इलाज अभी मेडिकल में ही चल रहा है।

अगवा करके दुष्‍कर्म का आरोप

गढ़मुक्तेश्वर निवासी छात्रा गुरुवार को चौधरी चरण सिंह विवि (सीसीएसयू) से बस से अपने घर लौट रही थी। अचानक ही गढ़ के समीप बस खराब हो गई। आरोप है कि वहां से बुलंदशहर के चांदपुर पुट्ठी थाना स्याना निवासी प्रियांश अपने साथी आकाश, सुमित और सोनी निवासीगण हापुड़ के साथ छात्रा को अगवा कर लिया और फिर सामूहिक दुष्कर्म किया। छात्रा के परिवार की तरफ से गढ़ थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। इस मामले को लेकर शनिवार को विवि के छात्र-छात्राएं बड़ी संख्या में आइजी ऑफिस पहुंचे थे और जमकर हंगामा किया था।

अभी बेहोशी की हालत

अधिकारियों ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया था। वहीं, रविवार को भी छात्रा की हालत में पूरा सुधार नहीं हुआ। वह बेहोशी की स्थिति में रही, जिसके चलते उसके बयान दर्ज नहीं हो सके। हालांकि रविवार को भी वह मेडिकल कॉलेज में ही भर्ती रही, जबकि शनिवार को उसे निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराए जाने का आश्वासन दिया गया था। आइजी प्रवीण कुमार ने कहा कि अभी छात्रा के बयान दर्ज नहीं हो सके हैं। बयान दर्ज होने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

प्रगतिशील सपा के कार्यकर्ता मिले

रविवार को प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के प्रदेश महासचिव जीतू नागपाल के साथ कार्यकर्ता छात्रा के परिजनों से मिलने के लिए मेडिकल कॉलेज पहुंचे। उन्होंने परिवार से कहा कि पार्टी आप के साथ है।

भाजपा नेता से मिले परिजन

छात्रा के परिजन रविवार शाम को भाजपा नेता कमल दत्त शर्मा से उनके आवास पर मिले। इस दौरान उन्होंने छात्रा को न्याय दिलाने की मांग की। कहा कि अभी छात्रा होश में आती है और बेहोश हो जाती है। डर के चलते सहमी रहती है। कमल दत्त शर्मा ने कहा कि इस संबंध में उन्होंने एडीजी जोन से बात की। साथ ही केस को मेरठ स्थानांतरित करने की मांग की।

आज एडीजी से मिलेंगे परिजन

परिवार छात्रा को न्याय दिलाने के लिए अधिकारियों से गुहार लगा रहा है। परिजनों का कहना है कि पुलिस मामले को गंभीरता से नहीं ले रही है। आइजी के बयान पर भी उन्होंने नाखुशी जाहिर की। व्यापारी नेता ने बताया कि परिवार की मुलाकात के लिए एडीजी से मिलने के लिए वक्त मांगा गया था। सोमवार सुबह एडीजी ने परिवार को बुलाया है।

रात में छात्रा की हालत बिगड़ी

मेडिकल कॉलेज की आइसीयू में भर्ती सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता की रविवार रात अचानक हालत बिगड़ गई। इस पर परिजनों में हड़कंप मच गया। चिकित्सकों ने बताया कि छात्रा के मुहं से अचानक खून निकलने लगा था। समय रहते स्थिति को नियंत्रित कर लिया गया। घबराने की कोई बात नहीं है। अंदरूनी चोट की वजह से कभी-कभी ऐसा हो जाता है। वहीं, रात में सांसद राजेंद्र अग्रवाल भी छात्रा को देखने के लिए मेडिकल कालेज पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने छात्रा को अलग वार्ड में शिफ्ट करने के लिए कहा, जिसके बाद उसे अलग शिफ्ट कर दिया गया। 

Posted By: Prem Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस