मेरठ, जेएनएन। गत शुक्रवार को जामा मस्जिद में नमाज अदा कराने के बाद बाहर निकली भीड़ ने ही हिसा को जन्म दिया था। आज सभी अफसरों से लेकर मोअज्जिज लोगों की नजर जामा मस्जिद की नमाज पर थी। दो बजे नमाज शुरू हुई तो सभी अफसर मस्जिद के बाहर जमा हो गए थे। बाहर से नमाजियों को नायब शहर काजी जैनुर राशिद्दीन और अंदर से शहर काजी जैनुस साजिद्दीन संभाल रहे थे। नमाज पूरी होने के बाद भीड़ के वापस लौट जाने पर अफसरों ने राहत की सांस ली।

पिछले जुमे को हिसा के दौरान बवालियों की भीड़ सड़क पर थी। एसपी सिटी से लेकर सीओ कोतवाली तक शहर के मोअज्जिज लोगों को कॉल करते रहे, लेकिन ज्यादातर के मोबाइल बंद थे तो कुछ लोगों के मोबाइल घरवालों ने रिसीव किए। यानि मोअज्जिज लोगों ने भी गत शुक्रवार को पुलिस का साथ देने से हाथ खींच लिए थे। मगर आज वही तस्वीर बदली हुई थी। मोअज्जिज लोग ही सुबह से पुलिस के साथ कंधे से कंधा मिलाकर मोहल्लों से लेकर बाजार तक मौजूद थे। उन्होंने मस्जिद में नमाज अदा कराने से लेकर भीड़ को घर तक पहुंचने में अहम भूमिका निभाई। शाम के समय नायब शहर काजी को एसपी सिटी ने फूल भेंटकर शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए बधाई दी। इस दौरान उन्होंने अफसरों से कहा कि हिसा में पथराव एवं फायरिग करने वालों पर कार्रवाई हो। निर्दोष लोगों को परेशान नहीं किया जाए। पुलिस ने मोअज्जिज लोगों को भरोसा भी दिलाया कि गुनाहगारों पर ही पुलिस कार्रवाई करेगी। अफसरों ने दिनभर छानी शहर की खाक, तब बनी बात

मेरठ : इस बार जुमे की नमाज के दौरान शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए अधिकारियों ने कोई कसर नहीं छोड़ी। पुलिस और प्रशासन दोनों के अधिकारी दिनभर शहर की गलियों की खाक छानते रहे। लोगों से बात करके शांति विश्वास और सुरक्षा का संदेश दिया, तब कहीं जाकर शुक्रवार का दिन शांति से गुजर सका।

कमिश्नर अनीता सी मेश्राम ने हापुड़ अड्डा समेत शहर के तमाम संवेदनशील स्थानों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने लोगों से असामाजिक तत्वों पर कड़ी कार्रवाई करने का वादा किया, साथ ही अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की। ऐसी अफवाहों की सूचना पुलिस को दें। सोशल मीडिया पर भी प्रसारित सूचनाओं की पहले पुष्टि करें। गलत सूचना फैलाने वालों को चिन्हित करके उनके नाम पुलिस को बताएं। उन्होंने पुलिस और प्रशासनिक अफसरों को भी निरंतर भ्रमणशील रहने का निर्देश दिया।

जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने कमिश्नर और अन्य पुलिस अधिकारियों के साथ बेगमपुल, भूमिया का पुल, शास्त्रीनगर एल ब्लाक, नौचंदी के शम्भूदास गेट, तिरंगा चौक, श्याम नगर, इस्लामाबाद, हापुड़ अड्डा, जलीकोठी, लालकुर्ती, भैंसाली बस अड्डा, ब्रह्मपुरी, फुटबॉल चौक आदि स्थानों पर भ्रमण किया। डीएम ने बताया कि उन्होंने पुराने शहर के कई इलाकों का पैदल ही भ्रमण किया और लोगों से बात की। उन्होंने बताया कि जनपद की कानून व्यवस्था सरकार की प्राथमिकता है, जिसके साथ कोई समझौता नहीं किया जा सकता। शांतिपूर्ण नमाज के लिए उन्होंने सभी का धन्यवाद भी दिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस