मेरठ, जेएनएन। भाजपा का राजनीतिक तवज्जो मेरठ की तरफ बना हुआ है। पार्टी प्रदेश की दस एमएलसी सीटों पर अपना प्रत्याशी जिताने की स्थिति में है, ऐसे में टिकट की दौड़ में कई नाम चल रहे थे। लेकिन प्रदेश इकाई ने मेरठ के अश्विनी त्यागी पर भरोसा जताया। उन्हें विधान परिषद भेजने की तैयारी है।

संतुलन साधना था ध्‍येय

विधान परिषद के लिए 18 जनवरी तक नामांकन होना है। प्रदेश इकाई लंबे समय से नामों पर मंथन कर रही थी। दो दिन पहले पार्टी ने चार लोगों का नाम तय कर दिया। शेष छह सीटों पर पार्टी को जातीय व क्षेत्रीय संतुलन साधना था। मेरठ से पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डा. लक्ष्मीकांत बाजपेयी, वैश्य चेहरे के रूप में पूर्व विधायक अमित अग्रवाल व एससी वर्ग से एक संघ के नेता का नाम भी चर्चा में रहा, लेकिन पार्टी ने प्रदेश महामंत्री अश्वनी त्यागी को प्रत्याशी बनाया। किसान परिवार से ताल्लुक रखन वाले त्यागी 1996 से 2008 तक भाजपा के युवा मोर्चे में कई अहम दायित्वों पर रहे।

यह भी जानें

2009 में प्रदेश मंत्री बने। दो बार प्रदेश मंत्री, एक बार प्रदेश उपाध्यक्ष, क्षेत्रीय अध्यक्ष और फिलहाल प्रदेश महामंत्री के पद पर हैं। क्षेत्रीय अध्यक्ष रहते उन्होंने प्रदेश कार्यसमिति आयोजित कराया। साथ ही उनकी अगुआई में 2019 का लोकसभा चुनाव संपन्न हुआ। प्रदेश संगठन महामंत्री सुनील बंसल के करीबी माने जाने वाले अश्विनी के संघ से भी बेहतर रिश्ते रहे हैं। उन्हें प्रत्याशी बनाने की सूचना मिलते ही शुभकामनाएं देने वालों का तांता लग गया। महानगर अध्यक्ष मुकेश सिंघल, जिला महामंत्री अंकुर मुखिया, भाजयुमो अध्यक्ष वीनस शर्मा व इंद्रपाल बजरंगी समेत कई ने उनके मिलकर और फोन पर भी बधाई दी।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021