मेरठ, जेएनएन। सिवाया टोल प्लाजा पर तीन फरवरी की देर शाम हुई किसान सोहनवीर उर्फ सोनू की मौत के प्रकरण में रविवार रात को सरधना विधायक समेत एसपी सिटी, एडीएम-ई, एसडीएम सरधना, सीओ दौराला समेत कई थानों के इंस्पेक्टर पहुंचे थे। मृतक के परिजनों और ग्रामीणों के सवालों का जबाव देते हुए विधायक और अफसरों ने भी स्वीकार किया कि सोहनवीर की मौत हादसे में नहीं बल्कि उसकी हत्या की गई है। टोल प्लाजा पर घटनास्थल के पास लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद सात से दस मिनट की फुटेज को कंट्रोल रूम से डिलीट किया गया है। जिससे साफ जाहिर है कि टोल कर्मचारियों ने अन्यों के साथ मिलकर सोहनवीर को मौत के घाट उतारा है।

शनिवार को सपा नेता अतुल प्रधान दुल्हैड़ा गांव में पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे थे। जहां पंचायत कर सभी की सहमति बनी कि सोमवार दोपहर 12 बजे तक अफसर पीड़ति परिवार से नहीं मिले तो वह कप्तान का दफ्तर घेरकर अनिश्चितकाल को धरना प्रदर्शन करेंगे। जहां रविवार रात सरधना विधायक ठा. संगीत सोम, एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह, एडीएम-ई और एसडीएम सरधना पुलिस बल के साथ गांव पहुंचकर पीड़ति परिवार से मिले। बातचीत के दौरान कई बार ग्रामीणों की विधायक और अफसरों से भी जमकर बहसबाजी हुई। गहमा-गहमी के बीच अफरा-तफरी का माहौल हो गया। पीड़ति परिवार केस का 24 घंटे में राजफाश करने की मांग रह रहे थे, मगर विधायक ने झूठा आश्वासन देने से इंकार कर दिया। जिसके दोबारा अफसरों संग बातचीत हुई, जिसमें निर्णय लिया गया कि 16 फरवरी को सोहनवीर की तेरहवीं है, उससे पहले ही हत्याकांड़ का राजफाश होना चाहिए। परिजन और ग्रामीणों ने इस पर सहमति जताई। साथ ही ग्रामीणों ने विधायक से कहा कि टोल से बचने के लिए वाहन दुल्हैड़ा के रास्ते रजवाहे होकर दौराला जाते हैं, उन वाहनों को गांव में जाने से रोका जाए। विधायक ने सीओ दौराला जितेंद्र कुमार से कहकर तत्काल कार्रवाई को कहा। --अफसरों को दिया मांगपत्र का ज्ञापन

पीड़ित परिवार की ओर से हिदूवादी नेता व पूर्व प्रधान प्रेमपाल सिंह ने मांगपत्र का ज्ञापन विधायक के माध्यम से अफसरों को सौंपा। मांग थी कि पीड़ित परिवार को 50 लाख मुआवजा, मृतक की पत्नी को सरकारी नौकरी, निर्दोष जेल न जाए, दोषी छूटे ना, फरार टोल प्लाजा के जीएम और प्रबंधक राजीव की शीघ्र गिरफ्तारी होनी चाहिए। टोल प्लाजा पर किसानों के लिए लेन अलग से होनी चाहिए।

--

इनका कहना है

पीड़ित परिवार की हरसंभव मदद की जाएगी। आरोपित पाताल में भी छिपें होंगे, तलाश कर जेल भिजवाया जाएगा। जो भी पीड़ित परिवार की मांग है, उस पर अमल कराया जा रहा है।

संगीत सोम, विधायक-सरधना।

--

पुलिस टीम लगा दी गई है, फरार आरोपित पकड़े जाएंगे। कैमरों की फुटेज का जो डाटा डिलीट किया है, उसे कवर करने में तीन, चार दिन लगेंगे, जल्द राजफाश किया जाएगा।

डॉ. अखिलेश नारायण सिंह, एसपी सिटी।

---------------------------------------

-संजीव-

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस