मेरठ, जेएनएन। अब तक की परीक्षाओं में प्रश्नपत्र एक या दो पन्ने के मिलते थे जबकि उत्तर पुस्तिका के बहुतेरे पन्ने होते थे। लेकिन इस बार मामला उल्टा होगा। सत्र 2021-22 के प्रथम सेमेस्टर की टर्म-वन बोर्ड परीक्षा में उत्तर पुस्तिका यानी ओएमआर एक ही पेज का होगा जबकि प्रश्नपत्र 15 से 20 पन्नों के मिलेंगे। बेहतर और सटीक जवाब वही परीक्षार्थी लिख सकेंगे जिनका विषय पर पकड़ मजबूत होगी। अब तक बोर्ड परीक्षार्थी एनसीईआरटी की किताबों को कई बार लंबे उत्तर लिखने के लिए पढ़ते थे लेकिन इस बार बेहद छोटे और सटीक उत्तर लिखने की तैयारी करनी है। इस बाबत एनसीईआरटी किताबों को सटीक नजरिए के साथ ही पढ़ने और हर लाइन में छिपे उत्तर को समझने की जरूरत है। एकाउंट्स में प्रश्न के होंगे 0.88 अंक

एकाउंट्स के शिक्षक और केएल इंटरनेशनल स्कूल में वरिष्ठ कोआर्डिनेटर दिनेश नरूला के अनुसार एकाउंट्स का पेपर दो भागों में विभाजित है। पार्ट-एक में पार्टनरशिप और कंपनी एकाउंट्स और पार्ट-टू में एनलिसिस आफ फिनांशियल स्टेटमेंट होगा। 40 अंक के पेपर में 45 बहुविकल्पीय प्रश्नों के जवाब देने होंगे। हर प्रश्न करीब 0.88 अंक का होगा। इसलिए एकाउंट्स में प्रैक्टिकल प्रश्नों के साथ ही थ्योरी को ध्यान से पढ़ें। एकाउंट्स के गोल्डन रूल सहित बेहद बारीक जानकारी पर आधारित प्रश्न भी पूछे जा सकते हैं। संभव है कि एकाउंटिंग ट्रांजेक्शंस पर आधारित प्रश्न भी होंगे जिनके लिए कैलकुलेशन भी करने पड़ सकते हैं। गणित की थ्योरी भी ध्यान से पढ़ें

गणित के वरिष्ठ शिक्षक और डीपीएस अमरोहा के प्रिंसिपल मनोज गोयल के अनुसार छात्रों को एनसीईआरटी की किताबों को कई बार बारीकी से पढ़ना चाहिए। गणित के चैप्टर्स में भी शुरू में दी गई थ्योरी को ठीक से पढ़ लें। गणित के फार्मूले ध्यान से याद करें। एमसीक्यू में फार्मूला भी पूछा जा सकता है। एमसीक्यू प्रश्नों को हल करते समय समय का ध्यान रखें। गणित के प्रश्न घुमाकर पूछे जा सकते हैं। ज्यादा लंबे कैलकुलेशन में न फंसें। एमसीक्यू आधारित प्रश्न कहीं से भी पूछे जा सकते हैं। केवल शिक्षकों के नोट्स पर ही निर्भर न रहें। पर्याप्त समय हो तो एनसीईआरटी के अलावा भी सहायक पुस्तकें पढ़ें। परीक्षा के पहले कम से कम पांच माडल पेपर जरूर हल कर के जाएं। टर्म-वन व टर्म-टू दोनों को गंभीरता से लें। दोनों के आधार पर ही फाइनल रिजल्ट बनेगा। वेटेज के अनुसार टापिकवार करें तैयारी

वरिष्ठ इकोनोमिक्स शिक्षक एवं एमआइईटी पब्लिक स्कूल के सीनियर कोआर्डिनेटर मनीष शर्मा के अनुसार वेटेज के अनुरूप चैप्टरवार और टापिकवार तैयारी करें। अधिक वेटेज वाले टापिक ठीक से तैयार होने पर परीक्षा में अच्छे अंक स्कोर करने में आसानी होगी। परीक्षा सामने हैं इसलिए सिलेबस समय से पूरा कर रिवीजन करें। अंतिम समय के लिए कुछ न छोड़ें। सीबीएसई की ओर से जारी माडल पेपर को बोर्ड परीक्षा की तरह 90 मिनट में हल करने की कोशिश करें। परीक्षा हल करने और उत्तर देने की सटीकता का अभ्यास करें। इससे आप अपनी कमजोरियों को पहचान कर दूर कर सकेंगे।

Edited By: Jagran