मेरठ, जागरण संवाददाता। मेरठ के मवाना में इंचौली के माजरा नया गांव में गुरुवार को मकान की छत पर चढ़ी भैंस को नीचे उतारने में पसीने छूट गए। सारे प्रयास विफल होने पर क्रैन की मदद से साढ़े चार घंटे बाद उसे नीचे उतारने में कामयाबी मिली।

यह है पूरा माजरा

इंचौली के माजरा नयागांव निवासी रणवीर सिंह पुत्र नेत्रराम दूध का कारोबार करते हैं। गुरुवार सुबह वह और स्वजन पशुओं को चारा लाने व अन्य काम के लिए चले गए। करीब नौ बजे एक भैंस खुलकर जीने के रास्ते मकान की छत पर चढ़ गयी। सूचना पर मकान स्वामी भी पहुंच गए और ग्रामीणों की मदद से नीचे उतारने का प्रयास किया लेकिन वह नहीं उतरी। फिर लोहे के पाइप व लोहे की चेन द्वारा नीचे लाने का प्रयास किया लेकिन इसमें भी कामयाबी नहीं मिली।

बुलडोजर मंगाया गया

बाद में बुलडोजर के बुलाया गया लेकिन भैंस उससे डरकर छत पर इधर-उधर भागने लगी। दोपहर करीब डेढ़ बजे क्रैन को बुलाया गया। जिसके माध्यम से भैंस को नीचे उतारा गया। इस बीच ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी। वहीं घंटों चले हंगामे की पुलिस को भनक तक नहीं लगी। एसओ इंचौली अंकित चौहान ने ऐसी जानकारी से अनभिज्ञता जताई।

चारा खिलाया पर छत से नीचे नहीं उतरी

ग्रामीणों ने भैंस को नीचे उतारने के लिए हरा चारा खिलाया। फिर जैसे चढ़ी उसे उतारने का प्रयास किया लेकिन वह जमकर खड़ी हो गई। चेन से जीने में नीचे खींचने पर वह आने को तैयार नहीं हुई। उधर, छत पर दीवार भी ज्यादा उंची नहीं होने से उसके कूदने का भी डर था।