मेरठ, जेएनएन। बुधवार को हुई जोरदार बारिश ने मेरठ समेत आसपास में गर्मी से लोगों को राहत दी थी। जिसके बाद हर दिन हो रही सुबह शाम की हल्‍की बारिश लोगों को राहत दे रही है। शुक्रवार को सुबह की हल्‍की बूंदाबादी के बाद दिन में धूप खिली रही। दिन का तापमान 30 डिग्री से अधिक दर्ज किया गया। हालाकि इस दौरान दोपहर के समय उमस भरी गर्मी का भी एहसास हुआ। लेकि‍न शाम होते ही अंधेरा छा गया और झमाझम बारिश हुई। मौसम विभाग ने जोरदार बारिश का अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के अनुसार अगले पांच दिनों में भारी बारिश होने की संभावना है। जो इस महीने तक जारी रह सकता है।

छाए रहे बादल, कहीं-कहीं हल्की बारिश

गुरुवार को दिनभर आसमान में बादल छाए रहे। साथ ही रुक-रुक कर हल्की बारिश भी होती रही। न्यूनतम तापमान 22 डिग्री व अधिकतम तापमान 27.5 डिग्री दर्ज किया गया। अधिकतम तापमान सामान्य से छह डिग्री कम रहा। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि कुछ दिनों तक इसी तरह का मौसम बना रहेगा। हल्की बारिश भी होती रहेगी। भारतीय कृषि प्रणाली अनुसंधान संस्थान मोदीपुरम के मौसम विज्ञानी डा. एन सुभाष ने बताया कि गुरुवार को बारिश बेहद कम रही। इससे पहले बुधवार को भारी बारिश से जन-जीवन अस्त व्यस्त हो गया था, लेकिन गुरुवार को मौसम लगभग सामान्य रहा। तापमान 30 डिग्री से कम रहने के कारण पारा नीचे रहा। बादलों के साथ हल्की बारिश भी हुई। धूप नहीं निकली। मौसम सुहाना रहा और लोगों ने राहत की सांस ली। अगले कुछ दिनों में इसी तरह का मौसम बना रहेगा।

फसलों में सतर्कता बरतने की सलाह: कृषि विज्ञानियों ने बारिश के मौसम के चलते फसलों में सतर्कता बरतने की सलाह दी है। धान की रोपाई के 20 से 30 दिन बाद अधिक उपज वाली प्रजातियों में प्रति हेक्टेयर 30 किलो नाइट्रोजन व सुगंधित प्रजाति में प्रति हेक्टेयर 25 किलो नाइट्रोजन की टाप ड्रेसिंग करें। इससे पहले खरपतवार निकाल दें। लौकी वर्गीय सब्जियों में मचान बनाकर सहारा दिया जाए। फूलगोभी में प्रति हेक्टेयर 200 से 250 कुंतल गोबर की खाद खेत तैयार करने के समय जरूर डाली जाए। उधर, गुरुवार को थाने में करीब चार फीट लंबा सांप निकलने से हड़कंप मच गया। पुलिसकर्मी वहां पहुंच तो सांप थाने में खड़ी केस प्रोपर्टी वाली गाड़ियों के बीच घुस गया। 

Edited By: Himanshu Dwivedi