मेरठ, जेएनएन। Meerut Weather Update शनिवार की सुबह से पूरे वेस्‍ट यूपी में मौसम बदला नजर आया और झमाझम बारिश ने मौसम के मिजाज को बदल दिया। जहां एक ओर इस बारिश के चलते गर्मी से राहत वहीं जगह-जगह जलभराव से लोगों को दिक्‍कतों का भी सामना करना पड़ा। किसानों के लिए यह बारिश मुफीद मानी जा रही है। अभी एक दो दिन मौसम का मिजाज ऐसे ही बने रहने की संभावना है। बागपत, बुलंदशहर, बिजनौर, मुजफ्फरनगर, शामली और सहारनपुर में भी बारिश हो रही है।

13 तक होती रहेगी बारिश

आसपास के जिलों में भी मौसम के बदले मिजाज का असर शनिवार को भी बना रहा। झमाझम बरसात से मौसम सुहावना रहा। इससे पारे में गिरावट होने से गर्मी से राहत रही, लेकिन विभिन्न इलाकों में जलजमाव की समस्या से भी जूझना पड़ा। वहीं, मौसम विभाग ने 13 सितंबर तक बादल छाए रहने की संभावना जताई है। चमक-गरज के साथ बरसात होने का पूर्वानुमान जताकर अर्लट जारी किया है।

रातभर कड़कती रही बिजली, बरसते रहे बदरा

बुलंदशहर में शुक्रवार देर रात से चमक-गरज के साथ हुई बरसात का असर शनिवार को भी बना रहा। झमाझम बरसात से मौसम सुहावना रहा। इससे पारे में गिरावट हुई और गर्मी से राहत मिली, लेकिन विभिन्न इलाकों में जलजमाव की समस्या से भी जूझना पड़ा। शुक्रवार दोपहर बाद से ही मौसम का मिजाज बदल गया। शाम होने से पहले ही झमाझम बरसात होने लगी। जबकि रात भर बिजली कड़कड़ाती रही और चमक-गरज के साथ बूंदाबांदी जारी रही। हालांकि शनिवार सुबह की शुरुआत हल्की फुहारों से हुई। बादलों के पीछे छिपे सूर्यदेव भी नजर आने के लिए उतावले रहे। इससे हल्की धूप का भी अहसास भी हुआ, लेकिन दिन चढ़ते ही आसमान में काली घटाएं घिर आई। रिमझिम फुहारें तेज होकर बरसने लगी। दोपहर होने तक झमाझम बरसात हुई। दिन भर कभी तेज तो कभी हल्की बूंदाबांदी होती रही। अधिकतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम 26 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।

सड़कों पर भरा पानी, लोगों को हुई परेशानी

बरसात होने से सड़कों पर जगह-जगह पानी भर गया। निचले इलाकों में लोगों को खासी परेशानी उठानी पड़ी। सड़कें भी कीचड़ से सनने की वजह से जगह-गंदगी पसरी रही। पानी उतरने के बाद ही लोग गंतव्य की ओर रवाना हो सके। उधर, झमाझम बरसात की वजह से लाइनों में फाल्ट और ब्रेकडाउन होने एहतियात के लिए सप्लाई बंद करनी पड़ी। ऐसे में जिले में विभिन्न स्थानों पर बिजली आपूर्ति ठप रही। इससे लोगों को परेशानी उठानी पड़ी।

तेज गति से हवा चलने की संभावना

केवी के मौसम वैज्ञानिक डा. रामानंद पटेल के अनुसार 13 सितंबर तक मध्यम से घने बादल छाए रहने की संभावना रहेगी। बताया कि अधिकतम तापमान 33 से 35 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम 24 से 26 डिग्री सेल्सियस पहुंचने के आसार रहेंगे। सुबह के समय सापेक्षी आर्द्रता 91 से 97 फीसद और दोपहर के समय सापेक्षी आद्रता 49 से 54 फीसद पहुंचने की संभावान बनी रहेगी। पूर्वी दिशा से 14.9 से 20.3 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से हवा चलने का पूर्वानुमान रहेगा।

किसान और पशुपालक रहें सचेत

झमाझम बरसात होने पर कृषि वैज्ञानिक ने किसानों को सचेत किया है। फसलों की निगरानी करते रहने, खेतों में जल निकास की व्यवस्था बनाए रखने, खड़ी फसलों में किसी प्रकार का छिड़काव न करने के लिए कहा है। वहीं, पशुपालकों को भी दुधारू पशुओं का विशेष ध्यान रखने की सलाह दी है। कहा है कि इस तरह के मौसम में पशुओं में थनैला रोग होने की संभावना बढ़ जाती है। बचाव के लिए पशु एवं पशुशाला की साफ सफाई करते रहें।

घंटों होती रही बारिश

मवाना : मवाना और आसपास के क्षेत्रों में मध्यरात्रि से रुक-रुककर हो रही बारिश के चलते गर्मी से राहत मिली है। ग्यारह बजे तक बारिश होती रही। जिसके चलते बाजार भी बेरौनक रहे। दोपहर तक व्यापारी ग्राहकों की बाट जोहते दिखाई दिए। वहीं, कई स्थानों पर जल भराव की स्थिति रही। शुक्रवार रात्रि आकाश में बादल घिर आए और देर रात बारिश शुरू हो गई। बूंदाबांदी के साथ शुरू हुई बारिश ने सुबह के समय रफ्तार पकड़ी। शनिवार को घंटों बारिश के चलते मौसम खुशगवार हो गया और लोगों ने गर्मी से राहत महसूस की है। सुभाष बाजार, दयानंद बाजार, गुड़मंडी, आजाद मार्केट, गोल मार्केट व हस्तिनापुर रोड के बाजार दोपहर तक बेरौनक दिखाई दिए।

Edited By: Prem Dutt Bhatt