मेरठ, जेएनएन। बुलंदशहर में गोकशी को लेकर हुए बवाल के बाद मेरठ में पुलिस गांव-गांव जाकर लोगों को गोकशी के खिलाफ शपथ दिला रही है। थानाध्यक्ष ग्रामीणों को शपथ दिला रहे हैं कि अब गांव या आसपास गोकशी नहीं होने देंगे। जो गोकशी करेगा उसका सामाजि‍क बहिष्कार करेंगे और पुलिस के हवाले करेंगे।
एसएसपी ने दिए निर्देश
बुलंदशहर में हुए बवाल के बाद मेरठ में भी गोकशी पर लगाम लगाने की कवायद की जा रही है। एसएसपी अखिलेश कुमार ने गोकशों पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सात दिन के अंदर जिले के तमाम गोकशों का सत्यापन किया जाए। एक डाटा बैंक बनाया जाए, जिसमें गोकशों से संबंधित पूरी जानकारी हो। थाना प्रभारियों को निर्देश दिए कि वह गांव-गांव जाकर शपथ दिलाने की प्रक्रिया तेजी से करें। गोकशों पर गैंगस्टर लगाया जाए। हिदायत दी कि यदि किसी क्षेत्र में अवैध कटान पाया जाता है तो संबंधित थानेदार के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। देहात क्षेत्र में तो शपथ दिलाने की प्रक्रिया की जा रही है। एसएसपी अखिलेश कुमार ने बताया कि गोकशी कतई नहीं होने दी जाएगी।

गोकश का परिवार भी जाएगा जेल
एसएसपी ने हिदायत दी कि यदि कहीं गोकश पकड़ा जाता है तो उसके परिवार पर भी कार्रवाई की जाएगी। कारण, परिवार को गोकश की गतिविधि पता होती है और वह जानते हुए भी आरोपित की सूचना पुलिस को नहीं देते। इसलिए वह भी आरोपित बनते हैं। गोकश के परिवार को भी जेल भेजा जाएगा।
इन थानों में इतनी घटनाएं
इस साल अभी तक सरधना थाने में कुल 11 मुकदमे दर्ज हुए, जिनमें 32 को गिरफ्तार किया गया। सरूरपुर में भी 11 मुकदमों में 30 को जेल भेजा गया। जानी में 14 मुकदमों में 38 जेल गए। इसी तरह मवाना में तीन मुकदमों में छह गिरफ्तार किए गए। बहसूमा में एक मुकदमे में दो गिरफ्तार किए गए। फलावदा में तीन मुकदमे और तीन गिरफ्तार किए। किठौर में 21 मुकदमों में 75 गिरफ्तार किए, जबकि मुंडाली में पांच मुकदमों में नौ गिरफ्तार किए गए। खरखौदा में 16, इंचौली में तीन, गंगानगर में दो, भावनपुर में 19 लोग गिरफ्तार किए गए।
देहात क्षेत्र का डाटा तैयार
गोकश व पशु क्रूरता से संबंधित डाटा देहात क्षेत्र में जुटा लिया गया है। कुछ थानों का बाकी डाटा जुटाया जा रहा है। एसपी देहात राजेश कुमार के निर्देशन में यह प्रक्रिया चल रही है।

Posted By: Ashu Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस