जागरण संवाददाता, मेरठ। कमिश्नरी सभागार में हुई समीक्षा बैठक में नगर आयुक्त मनीष बंसल ने इंटीग्रेटेड कूड़ा निस्तारण प्लांट की आवश्यकता बताई। कहा कि गांवड़ी में 45 एकड़ जमीन है। अगर इंटीग्रेटेड कूड़ा निस्तारण प्लांट मेरठ को मिल जाये तो शहर के फ्रेश कूड़े का निस्तारण हो पायेगा और शहर भी स्वच्छ दिखने लगेगा। चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय के सभागार में नगर विकास मंत्री आशुतोष टण्डन ने 62.22 करोड़ की विकास परियोजनाओं का शिलान्यास किया।

नगर विकास मंत्री आशुतोष टण्डन ने समीक्षा बैठक में दिए निर्देश

-बड़े एसटीपी का क्यों इंतजार कर रहे हो छोटे छोटे एसटीपी लगाने की कार्ययोजना बनाइये।

-सफाई व्यवस्था से संतुष्ट नहीं हूं, सफाई को दिखवाईये। कल से आज तक सफाई को लेकर ही शिकायतें मिली हैं।

-बरसात के मौसम के बाद शहर में गड्ढे नजर नहीं आने चाहिए।

- डेयरियों को शहर से बाहर शिफ्ट करने के लिए कमिश्नर की अध्यक्षता में डीएम और नगर आयुक्त एक विस्तृत कार्ययोजना बनाकर भेजें।

- जलनिगम के प्रोजेक्ट मैनेजर को चेताया कि अगर सीवर प्रोजेक्ट का काम 31 अगस्त तक पूरा न हुआ तो दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

-वेंडिंग जोन के लिए सर्वे कर जगह की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

नगर विकास मंत्री के समक्ष संयुक्त व्यापार संघ ने उठाया दुकानों की बेदखली का विषय

संयुक्त व्यापार संघ अध्यक्ष अजय गुप्ता के नेतृत्व में व्यापार संघ पदाधिकारियों ने सर्किट हाउस में नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन के समक्ष व्यापारियों की समस्याओं को उठाया। नगर निगम द्वारा 383 दुकानों को नोटिस के अलावा बरसात के दौरान शहर में जल भराव समेत पांच बिंदुओं पर संयुक्त व्यापार संघ के पदाधिकारियों ने ज्ञापन सौंपा। अध्यक्ष अजय गुप्ता के नेतृत्व में महामंत्री सरदार दलजीत सिंह, उपाध्यक्ष सुधीर रस्तोगी, वरिष्ठ मंत्री ललित गुप्ता, सुधांशु महाराज, अंकित गुप्ता व धनंजय आदि मौजूद रहे।

उप्र टेंट डेकोरेटर्स वेलफेयर आर्गेनाइजेशन ने सौंपा ज्ञापन

अध्यक्ष विपुल सिंघल ने नगर विकास मंत्री को शहर में मंडप, टेंट, रैस्टोरेंट आदि के संबंध में ज्ञापन सौंपा। उन्होंने कहा कि शहर में हर एरिया वहां के क्षेत्रफल व जनसंख्या को देखते हुए मंडप बनाने की योजना तैयार की जाए। उन्होंने कहा कि अब शहर में छोटे मंडपों की आवश्यकता है। 

Edited By: Himanshu Dwivedi