मेरठ, जेएनएन। मेडिकल थाना क्षेत्र के जागृति विहार सेक्टर सात को हॉटस्पॉट से मुक्ति दिलाने के लिए लोगों ने हंगामा कर दिया। काफी देर तक भीड़ की पुलिसकर्मियों से नोकझोंक हुई। बाद में मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी ने लोगों को समझा-बुझाकर शांत किया। उधर, सेक्टर सात में ही पुलिसकर्मियों ने एक व्यक्ति को घर में घुसकर पीटा। उसे घर से जबरन निकालकर ले गए। इसका वीडियो भी वायरल हो गया।

नहीं मिल रही राहत

मेडिकल थाना क्षेत्र के जागृति विहार सेक्टर सात को 28 मार्च को हॉटस्पॉट घोषित किया था। तभी से लोग घरों में कैद हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि 24 दिन बाद भी उनको राहत नहीं मिल रही है। हॉटस्पॉट के चलते लोग परेशान हैं। दुकानदार दोगुने रेट पर सामान दे रहा है। इसको लेकर शाम को महिलाओं समेत बड़ी संख्या में लोग घरों से बाहर निकल आए और जमकर हंगामा किया।

नागरिकों ने की नारेबाजी  

नारेबाजी करते हुए पुलिसकर्मियों से हॉटस्पाट खत्म करने की मांग की। काफी देर तक हंगामा होता रहा। मेडिकल थाना प्रभारी कुलवीर सिंह भी मौके पर पहुंचे। लोगों का कहना था कि हॉटस्पॉट क्षेत्र के यदि एक किमी दायरे में भी कोई कोरोना का पॉजिटिव मरीज मिलता है, तो ही क्षेत्र को हॉटस्पॉट माना जाएगा। थाना प्रभारी के समझाने के बाद लोग वापस लौट गए।

घर से पीटकर लाए पुलिसकर्मी

स्थानीय निवासी राजेंद्र कुमार ने बताया कि ड्यूटी पर तैनात दारोगा गली में गाली देते हुए जा रहे थे। उन्होंने वजह पूछी तो वह उनसे ही भिड़ गया। दो पुलिसकर्मी और आ गए और उनकी पिटाई शुरू कर दी। घर में से पीटते हुए उनको बाहर निकाला और साथ ले गए। तभी कालोनी के लोग भी आ गए और विरोध किया। हंगामे के बाद पुलिसकर्मियों ने उनको छोड़ा। थाना प्रभारी कुलवीर सिंह ने बताया कि मामले की जानकारी नहीं है। जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Prem Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस