मेरठ,जागरण संवाददाता। Meerut Crime News मेरठ के पावली खुर्द गांव में शुक्रवार को दिन निकलते ही एक लाख के इनामी सन्‍नी काकरान समेत तीन हमलावरों ने घर में घुसकर एलएलबी के छात्र पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। आधा दर्जन से अधिक गोली छात्र के शरीर को भेद गई। फायरिंग में छात्र का छोटा भाई बच गया, जो मकान की दीवार कूद कर भाग गया। घायल छात्र को गढ़ रोड स्थित न्यूट्रिमा हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है, जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गईं। पुलिस ने घटनास्थल से 15 खोखे बरामद किए हैं। पुलिस गैंगस्‍टर की तलाश में जुट गई है। वहीं इंस्पेक्टर कंकरखेड़ा सुबोध कुमार सक्सेना का कहना है कि कई गोलियों से घायल प्रयाग चौधरी की उपचार के दौरान मौत हो गई है, पंचनामा भरकर शव मोर्चरी पहुंचाने की कार्रवाई की जा रही है।

शोर सुनकर बाहर निकले स्‍वजन : कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र गांव पावली खुर्द निवासी किसान निरंकार चौधरी ने बताया कि रोज की तरह शुक्रवार सुबह 5:45 बजे उनके मकान के मुख्य गेट खुले हुए थे। इसी बीच पावली खुर्द गांव निवासी पुलिस रिकॉर्ड में दर्ज सनी काकरान पुत्र नगेंद्र अपने दो अज्ञात साथियों के साथ सीधे घर में घुस गया। घर के पिछले कमरे में कंप्यूटर पर काम कर रहे निरंकार का 27 वर्षीय बेटा एलएलबी छात्र प्रयाग चौधरी पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। गोली की आवाज और शोर सुनकर दूसरे कमरों से स्वजन बाहर आए तो हमलावरों ने दोबारा फायरिंग की। जिसमें निरंकार का छोटा बेटा मयंक बाल-बाल बच गया, जो मकान की दीवार कूदकर भागा। इस फायरिंग में निरंकार समेत उनकी पत्नी और मयंक की पत्नी भी बाल-बाल बची है। हमलावर खौफनाक वारदात को अंजाम देकर मौके से फरार हो गए।

छात्र की हालत गंभीर : चीख-पुकार के बीच ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। प्रयाग खून से लथपथ कमरे में पड़ा था। कंट्रोल रूम की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। घायल को पहले कैलाशी हॉस्पिटल ले गए, उसके बाद न्यूट्रिमा हॉस्पिटल में में ले जाकर भर्ती किया। जहां उसकी स्थिति गंभीर बताई गई है चिकित्सकों की मानें तो घायल के गाल, पेट, पैर और सीने पर करीब आधा दर्जन से अधिक गोली लगी है। कंकरखेड़ा सुबोध कुमार सक्सेना ने बताया कि गोलीकांड में सनी काकरान निवासी पावली खुर्द का नाम प्रकाश में आ रहा है। जिसने अपने दो अज्ञात साथियों के साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया है। न्यूट्रिमा हॉस्पिटल हॉस्पिटल में घायल का उपचार हो रहा है। हमलावरों के घरों पर दबिश दी गई है, जो फरार है। मुकदमा दर्ज कर आगे की सख्त कार्रवाई की जाएगी।

दो साल पहले खरीदी गई जमीन का बताया जा रहा विवाद : किसान निरंकार चौधरी ने बताया कि उनकी बहन त्रिचला पत्नी विजयपाल निवासी हाईवे कंकरखेड़ा ने वर्ष 2019 में पावली खुर्द निवासी नगेंद्र से दो बीघा जमीन खरीदी थी। इस जमीन पर निरंकार तभी से जोतने और बुवाई का काम कर रहे थे। तभी से नगेंद्र समेत उसका बेटा सनी काकरान रंजिश रखता है। पीड़ित पिता का कहना है कि उसी रंजिश के तहत शुक्रवार को सनी ने अपने साथियों साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया है।

एक साल पहले भी घर पर की थी फायरिंग, तब भी दर्ज हुआ था मुकदमा : पीड़ित निरंकार चौधरी ने बताया कि करीब एक वर्ष पूर्व भी सनी काकरान ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर उनके घर पर फायरिंग की थी। तब कई गोलियां दरवाजे और दीवार में लगी थी। इस मामले में भी थाने में मुकदमा दर्ज हुआ था। अगर उस केस में उस पर आगे कोई कार्रवाई नहीं हो पाई थी। संभवत: उसी हौसले की वजह से सनी ने दोबारा से गोलीकांड को अंजाम दिया है।

एक लाख का इनामी है सनी काकरान

मेरठ में एलएलबी छात्र पर हमला करने वाला सनी काकरान एक लाख का इनामी है। आठ दिन से क्राइम ब्रांच की टीम सनी काकरान के पीछे लगी थी। निरंकार चौधरी से सनी काकरान की मुखबरी कराई जा रही थी इसलिए उस पर हमला किया है। सनी काकरान इंचौली के चिंदौड़ी में बसपा नेता मनोज की हत्या और कंकर खेड़ा से जानलेवा हमले में वांछित चल रहा था। सनी काकरान के पीछे नोएडा और मेरठ एसटीएफ तथा मेरठ की क्राइम ब्रांच लगी थी।

Edited By: Prem Dutt Bhatt