मेरठ, जेएनएन। मेरठ के मोदीपुरम में रोहटा रोड पर सोमवार देर रात बुलेरो गाड़ी सवार खनन अधिकारी की गाड़ी में टक्कर मारकर खनन माफिय द्वारा उसे पलटाने का प्रयास किया गया। अधिकारी ने संदिग्ध बाइक सवार एक और कार सवार दो लोगों द्वारा पीछा करने की सूचना शोभापुर चौकी पुलिस को दी। जिसके बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंची और घेराबंदी कर तीनों बदमाशों को धर दबोचा। पूछताछ में तीनों के संबंध खनन माफिया से जुड़े हैं।

गाड़ी का किया पीछा

खनन अधिकारी शैलेश कुमार अपनी बुलेरो कार में सवार होकर ड्यूटी पर देर रात शोभापुर से रोहटा रोड की ओर मिट्टी के खनन की चेकिंग करने गए थे। रोहटा रोड पर पहुंचते ही बाइक सवार एक युवक और आइटेन कार सवार दो युवकों ने खनन अधिकारी की गाड़ी का पीछा किया। बाइक और कार कभी बुलेरो के आगे, कभी बराबर में आकर साइड मारने का प्रयास कर रहे थे। बदमाशों की मंशा थी कि टक्कर मारकर खनन अधिकारी की गाड़ी को पलटा दिया जाए। खनन अधिकारी को मौके को भांपने में देर नहीं लगी, उन्होंने कंकरखेड़ा थाना पुलिस को सूचना दी।

तीन बदमाश गिरफ्तार

इंस्पेक्टर समेत शोभापुर चौकी इंचार्ज पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस को देखते ही बदमाशों ने भागने का प्रयास किया, मगर पुलिस ने घेराबंदी कर बाइक और कार सवार तीनों बदमाशों को धर दबोचा। खनन अधिकारी की तहरीर पर पुलिस ने केस दर्ज किया है। इंस्पेक्टर तपेश्वर सागर ने बताया कि खनन अधिकारी की गाड़ी का पीछा कर पलटाने का प्रयास किया गया, तीन बदमाश गिरफ्तार हैं।

पुलिस और खनन अधिकारी पर पहरेदार रखते हैं नजर

सूत्रों की मानें जंगल क्षेत्र में जब खनन होता है, तब खनन माफिया के गुर्गे मुख्य मार्ग पर ही वाहनों में सवार होकर पहरेदारी करते हैं, ताकि पुलिस और खनन अधिकारी के आने की सूचना माफिया को दे सकें। पुलिस अब पकड़ में आए तीनों बदमाशों का अपराधिक रिकार्ड खंगालने के साथ किस खनन माफिया के लिए वह काम करते हैं, इसकी भी पूछताछ हो रही है। 

Edited By: Prem Dutt Bhatt