जागरण संवाददाता, मेरठ: बालिका के निजी अंगों में हाथ डालकर कार में घुमाने वाले शिक्षक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित शिक्षक फिरोजाबाद का रहने वाला है, जो गंगानगर के एक कालेज में शिक्षक है। आरोपित ने बताया कि बालिका को लिफ्ट देने के बहाने कार में बैठा लिया था। उसके बाद एक घंटे तक गंगानगर डिवाइडर रोड पर घुमाया। उसके बाद उसे देवानंद अस्पताल के बाहर उतार दिया था। 

शिक्षक की उम्र 28 वर्ष बताई जा रही है। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज में देखा कि बालिका खुद ही कार में सवार हो रही है। उसके बाद पुलिस ने कार का नंबर देखकर उसकी पड़ताल की। कार फिरोजाबाद निवासी अभिषेक वर्मा के नाम थी। कार के रजिस्ट्रेशन की डिटेल में अभिषेक का मोबाइल नंबर लिखा था।

उस मोबाइल नंबर की लोकेशन गंगानगर में मिली। उसके बाद क्राइम ब्रांच ने शिक्षक को गंगानगर स्थित किराए के मकान से पकड़ लिया है। शिक्षक ने घटना को कबूल कर लिया है। आरोपित ने बताया कि छात्रा के निजी अंगों में हाथ डालकर गंगानगर में करीब एक घंटे तक घूमा था। 

देर रात तक थाने पर रहा पीड़ित परिवार

पुलिस की कार्रवाई का आलम देखिए कि सुबह आठ बजे बालिका को अगवा किया गया। उसके बाद नौ बजे आरोपित ने उसे दुष्कर्म करने के बाद छोड़ दिया। बाद में पीड़िता का उपचार भी करा दिया। उसके बाद भी मुकदमा दर्ज करने में शाम हो गई। 

बाद में पीड़िता के बयान दर्ज कराए तो रात आठ बजे तक पूरा परिवार थाना परिसर में मौजूद था। बालिका की मां से बात की गई थी। उनका रो-रो कर बुरा हाल था। बस एक ही मांग थी कि 10 साल उम्र में बेटी को हवस का शिकार बनाने वाले दरिदें को फांसी दिलाई जाए। 

बालिका के चेहरे पर दिख रहा था खौफ

बालिका ने पुलिस को बताया कि आरोपित ने कार में लिफ्ट देने के बहाने बैठाया था। उसके बाद एक मकान में भी ले गया। कार में दुष्कर्म भी किया। एक घंटे बाद पीड़िता को देवानंद अस्पताल के बाहर फेंक दिया। आरोपित से बालिका इतना डर गई थी। उसके चेहरे पर खौफ साफ दिखाई दे रहा था। बालिका का कहना था कि आरोपित ने उसे जान से मारने की धमकी दी थी। 

बालिका के पिता हो चुकी है मौत 

बालिका के पिता की मौत हो चुकी है। उसके बाद मां ने चाचा से शादी कर ली थी। हाल में महिला चाचा से अलग गंगानगर में किराए का मकान लेकर रह रही है। एक अस्पताल में महिला नौकरी कर बच्चों की पढ़ाई करा रही है। बेटी के साथ हुई घटना के बाद मां की तबीयत भी बिगड़ गई थी। बाद में लोगों ने समझाकर शांत किया।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट