मेरठ, जेएनएन। भारतीय सेना की तमाम योजनाओं से पूर्व सैनिकों, वीर नारियों व उनके परिजनों को अवगत कराने और सेवाओं का लाभ प्रदान करने के लिए रविवार को सब एरिया मुख्यालय और पाइन डिव की ओर से आरवीसी सेंटर एंड कॉलेज में वेटरन्स रैली का आयोजन किया गया। इस रैली में मेरठ सहित आसपास के तमाम जिलों से एक हजार से अधिक पूर्व सैनिकों, वीर नारियों व उनके परिजनों ने हिस्सा लिया। वेटरन्स रैली में मुख्य अतिथि के तौर पर पहुंचे यूबी एरिया के जनरल ऑफिसर कमांडिंग लेफ्टिनेंट जनरल पीएस मोहंती ने पूर्व सैनिकों को स्वस्थ रहने, खुश रहने और सेना की वर्तमान पीढ़ी का मार्गदर्शन करते रहने आह्वान किया।

बेहतर की जा रही तमाम सेवाएं

ले. जनरल मोहंती ने बताया कि भारतीय सेना की ओर से सैनिकों व पूर्व सैनिकों के लिए तमाम योजनाएं चलाई जा रही हैं। इसका लाभ व इसकी जानकारी हर पूर्व सैनिक तक पहुंचे, इसकी व्यवस्था विशेष तौर पर की जा रही है। उन्होंने कहा कि जल्द ही एसएमएस या व्हाट्सएप मैसेज के जरिए सभी पूर्व सैनिकों, वीर नारियों को सेना की नई-नई योजनाओं की जानकारी दी जाएगी। इसके साथ ही जनरल मोहंती ने बताया कि ईसीएचएस की सेवाओं को बेहतर बनाया जा रहा है। जब इसकी शुरुआत हुई थी तब इसका बजट 200 करोड़ रुपये था जो अब बढ़कर 4000 करोड़ रुपए हो गया है। इसके बाद भी दवाओं व स्टाफ की समस्याएं कहीं-कहीं पर देखने को मिलती है। अब पूर्व सैनिकों से फीडबैक लेने के बाद इस सुविधा का विस्तार और बेहतर किया जाएगा। उन्होंने मेरठ के ईसीएचएस में व्याप्त सुविधाओं की तारीफ की और कहा कि इसी तर्ज पर देश में ईसीएचएस सेवा को बेहतर किया जाएगा।

सीएसडी कैंटीन व पेंशन के बारे में बताया

इसके साथ ही उन्होंने सीएसडी कैंटीन व पेंशन आदि से संबंधित समस्याओं के लिए रैली में व्याप्त सुविधाओं का लाभ लेने के लिए सभी पूर्व सैनिकों को प्रेरित किया। जनरल मोहंती ने कहा कि पूर्व सैनिक सेना के अतीत और सैनिकों के भविष्य हैं। कल उन्होंने सैनिकों का मार्गदर्शन कर पाला और सिखाया और अब भविष्य में पूर्व सैनिक बनने जा रहे वर्तमान सैनिकों और अफसरों की जिम्मेदारी है कि वह पूर्व सैनिकों के लिए बेहतर सेवाएं मुहैया कराएं जिससे कल उन्हें भी बेहतर सुविधा मिल सके।

जन्म से मृत्यु तक ख्याल रखती है सेना

वेटरन्स रैली में पाइन डिव के जनरल ऑफिसर कमांडिंग मेजर जनरल मानिक कुमार दास ने कहा कि साल में एक बार इस तरह के संयुक्त आयोजन से सभी पूर्व सैनिकों से मिलना उनके बारे में जानना जरूरी होता है। बताया कि सेना जन्म से मृत्यु तक अपने सभी सैनिकों का ख्याल रखती है। इसलिए इस कार्यक्रम को 'हमारे वेटरन हमारी जिम्मेदारी' थीम के साथ आयोजित किया गया है। उन्होंने कहा कि सैनिकों का सम्मान समाज में उच्च दर्जे का होता है। इसके लिए सभी विभाग उनकी हर समस्या का समाधान करने के लिए एक साथ जुड़े हैं।

अब दूसरी पारी खेलने का समय

सेवानिवृत्त ले. जनरल जेएस वर्मा ने कहा कि सेना से रिटायर होना मतलब बैठ जाना नहीं होता है। सभी पूर्व सैनिकों को सेना के बाद की इस पारी को क्रिकेट की दूसरी पारी के तौर पर लेना चाहिए। पहले सेवा दी अब अपने लिए जिए, खुश रहें, पड़ोसियों से मिले, रिश्तेदारों से मिले, व्यायाम करें, स्वस्थ रहें, अच्छा खाएं। कहा कि बच्चे अब बड़े हो गए हैं। वह अपनी जिम्मेदारी निभाएंगे और सेवा करेंगे लेकिन उससे पहले यह हर सैनिक का भी कर्तव्य है कि वह स्वयं अपनी देखभाल करें और स्वस्थ रहें। इसके लिए दिन में चार-पांच किलोमीटर घूमे,

एक्सरसाइज करें और लोगों से मिले।

वीरनारियों और बहादुरों को किया सम्मानित

पूर्व सैनिकों के लिए आयोजित इस रैली में सब एरिया कमांडर मेजर जनरल पीएस साईं की पत्नी ललिता साईं और पाइन डिव के जीओसी मेजर जनरल एमके दास की पत्नी मीता दास ने वीर नारियों को सम्मानित किया। उन्होंने उपस्थित वीर नारियों को तोहफा प्रदान कर सम्मानित किया और उनकी समस्याओं को सुना, समझा और उनके निदान का आश्वासन दिया। इसके साथ ही लेफ्टिनेंट जनरल पीएस मोहंती, मेजर जनरल पीएस साईं व मेजर जनरल एम के दास ने युद्ध में जख्मी होकर अक्षम हुए सैनिकों को ऑटोमेटिक वाहन व स्कूटी प्रदान किया। इनमें सूबेदार रामकिशोर, सिपाही जितेंद्र चौधरी, नायक नंदू सिंह, सिपाही भूपेंद्र वीर सिंह और हवलदार मोती सिंह बिष्ट को सम्मानित किया गया।

समस्‍याओं का किया गया निदान

इस रैली में सैनिकों के लिए तरह-तरह के स्टाल लगाए गए, जहां उन्होंने अपनी पेंशन, ईसीएचएस, बीमा, बैंक संबंधी आदि समस्याओं का निदान किया। इसके साथ ही सेना के रिकॉर्ड ऑफिस में सभी के दस्तावेज दुरुस्त कर परिजनों की जानकारी अपडेट की गई। इस कार्यक्रम में आरवीसी सेंटर एंड कॉलेज के कमांडर मेजर जनरल अनिल कुमार सहित सेना के अन्य वरिष्ठ अधिकारी व पूर्व सैनिक उपस्थित रहे। पूर्व सैनिक संघ की ओर से मेजर राजपाल सिंह ने सभी पूर्व सैनिकों का मार्गदर्शन किया। सेना की ओर से ब्रिगेडियर अनिल जथालिया की अगुवाई में पाइन ब्रिगेड ने कार्यक्रम का आयोजन व संचालन किया। 

Posted By: Prem Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस