मेरठ, जेएनएन। किसानों की आय दोगुना करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी किसान सम्मान निधि योजना में कृषि विभाग लापरवाही बरत रहा है। शिथिलता का आलम यह है कि सम्मान निधि के किसानों के डाटा को 10 जुलाई तक फीड करके पूर्ण करना था। लेकिन जुलाई के अंतिम सप्ताह में जिले के सात विकास खंडों में 51781 किसानों का डाटा लंबित पड़ा हुआ है। इस लापरवाही पर प्रमुख सचिव कृषि ने असंतोष व्यक्त करते हुए फील्ड कर्मचारियों पर दंडात्मक कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। उप निदेशक कृषि मेरठ ने सात ब्लाकों के सहायक विकास अधिकारियों को नोटिस जारी करते हुए 30 जुलाई तक फीडिग पूर्ण करने का लक्ष्य दिया है। साथ ही चेतावनी दी है कि निर्धारित समय अवधि तक यदि डाटा फीडिग नहीं होती है तो निलंबन या प्रतिकूल चरित्र प्रविष्टि की कार्रवाई की जाएगी।

ब्लाक का नाम - अवशेष डाटा

जानी - 3699

रजपुरा - 2819

मवाना - 6212

हस्तिनापुर - 8003

सरधना - 10461

सरूरपुर - 12140

माछरा - 8447 भाजपा विकास की कसौटी पर खरी उतरी : ब्लाक सभागार में बुधवार को भाजपा की ओर से सम्मान समारोह का आयोजन किया गया, जिसमें नव निर्वाचित ब्लाक, ग्राम प्रधान एवं क्षेत्र पंचायत सदस्यों का सम्मान किया गया।

सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि भाजपा के पश्चिम उप्र के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष हरेंद्र कुमार जाटव ने कहा कि भाजपा सरकार ने ग्राम प्रधानों को काफी अधिकार दिये हैं। जिसके आधार पर वह गांव का विकास करें और जनकसौटी पर खरा उतरे। उन्होंने सरकार की उपलब्धि गिनाईं। कहा कि भाजपा के शासन में सर्वाधिक विकास हो रहा है।

ब्लाक प्रमुख गीता पायल, ग्राम प्रधानों एवं क्षेत्र पंचायत सदस्यों को सम्मानित किया गया। अध्यक्षता मंडल अध्यक्ष सतेंद्र काकरान ने की व संचालन मंडल उपाध्यक्ष देहात अनुज भाटी ने किया।

Edited By: Jagran