मेरठ, जेएनएन। मेडिकल के कमालपुर गांव में अधिवक्ता मुकेश शर्मा की कनपटी पर पीछे से गोली मारकर हत्या कर दी। गांव के प्राइमरी स्कूल के पास वारदात को अंजाम देकर हमलावर फरार हो गए। खून से लथपथ अधिवक्ता को परिजन आनंद अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। इसके बाद लोगों ने अस्पताल में ही हंगामा किया। पुलिस-प्रशासनिक अफसर मौके पर पहुंच गए। हत्या के पीछे भूमि विवाद माना जा रहा है।

19 साल पहले हुई थी भाई की हत्‍या

मेडिकल थाना क्षेत्र के कमालपुर में प्रद्युम्न शर्मा का परिवार रहता है। उनके दो बेटे मुकेश शर्मा और लोकेश शर्मा थे। लोकेश की 19 साल पहले हत्या कर दी गई थी। अधिवक्ता मुकेश शर्मा ही पूरे परिवार को देख रहे थे। उनकी आठ बेटियां हैं। शुक्रवार की रात 9.15 बजे मुकेश शर्मा घर से खाना खाने के बाद गांव में बाहर घूमने गए थे। ट्रांसफार्मर की आड़ में पहले से घात लगाए बैठे हमलावर ने मुकेश शर्मा को देखते ही मारपीट शुरू कर दी। इसके बाद कनपटी पर पीछे से गोली मारकर हमलावर वहां से भाग गए। घर से घटना स्थल दो सौ मीटर की दूरी पर होने की वजह से बेटी टीना को पापा के चिल्लाने की आवाज आई। टीना मौके पर दौड़ी, तभी आसपास के लोगों की भीड़ वहां जमा हो गई।

डीएम और एसएसपी पहुंचे मौके पर

तत्काल यूपी-100 को घटना की सूचना दी। पुलिस के पहुंचने से पहले ही मुकेश को लेकर परिवार के लोग आनंद अस्पताल पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। अधिवक्ता की हत्या की सूचना के बाद पुलिस और प्रशासनिक अफसर आननफानन में मौके पर दौड़े। रात करीब 11 बजे डीएम अनिल ढींगरा और एसएसपी अजय साहनी भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने परिजनों को वारदात के राजफाश का भरोसा दिलाया। इसके बाद दोनों अफसरों ने गांव में क्राइमसीन का निरीक्षण किया। वहां पर कोई वाहन के निशान तक नहीं मिले है। लग रहा है हमलावर पैदल ही आए थे। पुलिस आसपास के सीसीटीवी कैमरे से हत्यारोपितों की पड़ताल कर रही है। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस