मेरठ, शुभम कुमार। दिल्ली में शराब सस्ती होते ही हाईवे के रास्तों से शराब की बड़ी खेप वेस्ट यूपी में पहुंच रही है। कई जिलों में राजस्व कम होने पर आबकारी विभाग को तस्करी रोकने के लिए बैठक बुलानी पड़ गई। अब बार्डर के जिलों पर प्रवर्तन टीम तस्करी रोकेगी। तस्करों की धरपकड़ के लिए गाजियाबाद और नोएडा में पांच चेक पोस्ट बनाए गए है। यदि टीम को दिल्ली मार्का शराब की एक बोतल भी मिली तो चालक पर मुकदमा दर्ज कर वाहन जब्त किए जाएंगे।

सोमवार को संयुक्त आबकारी आयुक्त, मेरठ जोन महेंद्र सिंह की अध्यक्षता में आबकारी अधिकारियों व सीमावर्ती दिल्ली राज्य की शराब दुकानों के अनुज्ञापियों व प्रतिनिधियों के साथ नोएडा में बैठक हुई। जिसमे उन्होंने बताया कि दिल्ली में शराब सस्ती होने की वजह से वेस्ट यूपी के कई जिलों में शराब तस्करी बढ़ गई है। तस्कर हाईवे के रास्ते शराब दिल्ली से यूपी में लेकर आ रहे है, जो सस्ते दामों में बेचकर मोटा मुनाफा कमा रहे है। जिस वजह से आबकारी विभाग का राजस्व कम हो गया है। उन्होंने दिल्ली के अनुज्ञापियों को निर्देश दिए है कि वह भारी मात्रा में शराब की बिक्री न करें। यदि दिल्ली की शराब की बड़ी खेप यूपी में पकड़ी जाता है, तो दिल्ली के अनुज्ञापी के विरूद्ध भी कार्रवाई की जाएगी।

दिल्ली की एक बोतल भी मिली तो खैर नहीं

गाजियाबाद और नोएडा में पांच चेक पोस्ट बनाए गए है। आबकारी विभाग की प्रवर्तन टीम चेक पोस्ट पर तैनात रहेगी। यदि उन्हें दिल्ली मार्का शराब की सील बंद एक बोतल भी मिली तो चालक पर मुकदमा दर्ज कर उसके वाहन को जब्त कर लिया जाएगा। यदि कोई वाहन चालक खुली दिल्ली मार्का शराब की खुली बोतल लेकर यूपी में प्रवेश करता है तो उसे चेतावनी देकर छोड़ दिया जाएगा।

मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस-वे पर तैनात रहेगी टीम

दिल्ली मार्का शराब यूपी लेकर आने के लिए तस्कर हाईवे का सहारा ले रहे है। उप जिला आबकारी आयुक्त, मेरठ प्रभार राजेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि तस्करी रोकने के लिए प्रवर्तन टीम के साथ पुलिस मेरठ - दिल्ली एक्सप्रेस-वे पर तैनात रहेगी। एक टीम डासना और दूसरी टीम परतापुर पर रहेगी। जो तस्करों की नजर बनाए रखेगी।

 

Edited By: Taruna Tayal