[अमित तिवारी] मेरठ। घुड़सवारी प्रतियोगिता में रफ्तार जरूरी है, लेकिन मनमानी नहीं कर सकते। इवेंटिंग की क्रास कंट्री में कोर्स डिजाइन के अनुरूप उसे पार करने का न्यूनतम और अधिकतम समय भी निर्धारित होता है। न्यूनतम समय घोड़े की रफ्तार पर निर्धारित किया जाता है। एक घुड़सवार निर्धारित न्यूनतम समय से केवल 25 सेकेंड तक पहले पहुंच सकते हैं। 25 सेकेंड से अधिक पहले पहुंचते ही घुड़सवार पर 30 पेनाल्टी तय हो जाती है। यह पेनाल्टी चढ़ने पर मेरिट में घुड़सवार पीछे हो जाते हैं। इसलिए घुड़सवार क्रास कंट्री ट्रैक पर आगे बढ़ते हुए हर मिनट चले किलोमीटर के अनुरूप अपनी रफ्तार पर नजर रखते हैं, जिससे रफ्तार अधिक हो तो कम कर लें और कम हो तो थोड़ा बढ़ा सकें।

ज्यादा जल्दी मतलब ज्यादा ज्यादती

घुड़सवारी में प्रतिभाग करते समय घोड़े को चाबुक मारकर रफ्तार बढ़ाने को क्रूरता माना जाता है। इसलिए न्यूनतम समय से अधिक पहले पहुंचने पर ऐसा माना जाता है कि घोड़े को जबरन अधिक रफ्तार में दौड़ाया गया है। इससे घोड़े की सेहत पर बुरा असर भी पड़ सकता है। घुड़सवार भी चोटिल हो सकते हैं।

यह था कोर्स और उसके मानक

इवेंटिंग प्री-नोविस में ज्यादातर नए घोड़े होते हैं। यह घुड़सवारी में पहली प्रतियोगिता होती है। इसमें घोड़े की आयु न्यूनतम पांच साल और घुड़सवार की आयु 16 साल होनी चाहिए। शनिवार को इवेंटिंग प्री-नोविस कोर्स की दूरी 1,840 मीटर थी। नोविस में कुछ प्रतियोगिताएं खेल चुके थोड़े अनुभवी घोड़े होते हैं।

नोविस क्रास कंट्री में इनकी रफ्तार रही दमदार

एक           मेजर अपूर्व दबादे व कान्हाजी, 61 कैवेलरी         4.15 मिनट

दो             सिपाही नारायण सिंह व वेद, एएससी सेंटर नार्थ       4.16 मिनट

तीन          मेजर आशीष मलिक व अभय, आर्मी इक्वेस्ट्रियन नोड        4.20 मिनट

चार           ले. कर्नल अजरुन पाटिल व फिनोमिनल, 61 कैवेलरी           4.22 मिनट

पांच           नायब रिसालदार अंकुश कुमार व वेलेग्रो, आरटीएस हेमपुर      4.23 मिनट

ड्रेसाज व क्रास कंट्री के बाद ये हैं आगे

प्री-नोविस इवेंटिंग

प्रथम                दफेदार राकेश कुमार व अवतार          31.5 पेनाल्टी

द्वितीय              जय सूद व रायस                            32.2 पेनाल्टी

तृतीय                ले. कर्नल राज संग्राम सिंह व लायन आफ द हर्ट       33.5 पेनाल्टी

नोविस इवेंटिंग

प्रथम                     मेजर अपूर्व दबादे व कान्होजी                           32.7 पेनाल्टी

द्वितीय                 लांस दफेदार गिरधारी सिंह व चेतक                    34.1 पेनाल्टी

तृतीय                   मेजर आशीष मलिक व अभय                             34.2 पेनाल्टी 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021