मेरठ, जेएनएन। Kisan Mahapanchayat संयुक्त किसान मोर्चा के आहवान पर गाजीपुर बार्डर पर आज शुक्रवार को होने वाली महापंचायत में भाग लेने के लिए मेरठ सहित कई जिलों से बड़ी संख्‍या में किसान रवाना हो गए हैं। 26 नवंबर को किसान आंदोलन को एक वर्ष पूरा होने पर दिल्ली बार्डर के गाजीपुर मंच पर धामपुर तहसील के चारों ब्लॉक धामपुर, स्योहारा, अफजलगढ़ और नहटौर के भाकियू कार्यकर्ता वहां पहुंचे हैं। धामपुर से तहसील अध्यक्ष राजेंद्र सिंह के नेतृत्व में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता गाजीपुर पहुंचे। जहां कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे हैं।

वहीं बागपत के रमाला में धरने को एक वर्ष पूरा होने पर गाजीपुर बार्डर जाते किसान यूनियन के कार्यकर्ता गाजीपुर बार्डर के लिए रवाना हो गए। वहीं मेरठ में भाकियू युवा विंग के पदाधिकारी देशपाल हुड्डा के नेतृत्व में गाजीपुर बॉर्डर पर पंचायत में शामिल होने के लिए रवाना हुए।  वहीं बागपत में चौधरी नरेश टिकैत ने कहा कि केंद्र सरकार ने जिस तरह तीनों कृषि कानून वापस किए हैं। उसी तरह न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कानून बना दे तो किसानों का मजा आ जाएगा। उन्होंने कहा कि 27 नवंबर को संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक होगी जिसमें आगे के लिए कोई निर्णय लिया जाएगा।

मेरठ से भी तैयारी

संयुक्त किसान मोर्चा के आहवान पर किसानों ने गाजीपुर बार्डर पर 26 नवंबर शुक्रवार को होने वाली महापंचायत की तैयारी शुरू कर दी थी। मेरठ से भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारी लगभग 15 ट्रैक्टर व 20 गाड़ियों के काफिले के साथ गाजीपुर बार्डर के लिए शुक्रवार सवेरे रवाना हो गए। भाकियू जिलाध्यक्ष मनोज त्यागी ने बताया कि भारतीय किसान यूनियन की ओर से मेरठ से लगभग 200 किसानों की महापंचायत में भागीदारी होगी।

गाजीपुर बार्डर पर महापंचायत में रवाना हुए मेरठ के भाकियू कार्यकर्ता

मेरठ : 26 नवंबर को किसान आंदोलन को एक वर्ष पूरा हो गया है। आज ही के दिन पिछले वर्ष तीनों कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की सीमाओं पर किसानों ने विरोध करते हुए आंदोलन शुरू किया था। हालांकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वापसी की घोषणा के बाद केंद्रीय मंत्रिमंडल की मंजूरी मिलने पर तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने की स्वीकृति मिल गई है। एक साल पूरा होने पर आज गाजीपुर बार्डर पर किसानों की महापंचायत होगी। इसमें मेरठ से भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारी समेत लगभग 200 किसान रवाना हुए हैं। भाकियू जिलाध्यक्ष मनोज त्यागी ने बताया कि महापंचायत में शामिल होने के लिए किसान कार व ट्रैक्टर ट्रालियों से गाजीपुर बार्डर पहुंच रहे हैं। मेरठ के किसान गंगनहर मार्ग और एक्सप्रेस वे के रास्ते गाजीपुर बार्डर रवाना हुए हैं।

15 ट्रैक्टर व लगभग 20 गाड़ियों में रवाना हुए किसान

भाकियू जिलाध्यक्ष मनोज त्यागी ने बताया कि मेरठ के किसान करनावल समेत सरधना क्षेत्र वाले गांवों से गंगनहर के रास्ते गाजीपुर बार्डर के लिए रवाना हुए। वहीं, अन्य किसान दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे के रास्ते से पहुंच रहे हैं। मेरठ से किसान लगभग 15 ट्रैक्टर ट्राली व 20 गाड़ी शामिल हैं।

सिवाया टोल के धरने को पूरे हो गए छह माह

भारतीय किसान यूनियन ने मेरठ में भी 26 मई 2021 को सिवाया टोल प्लाजा पर तीनों कृषि कानूनों के विरोध में धरना प्रदर्शन शुरू किया था। सिवाया टोल पर चल रहे धरने को शुक्रवार को छह माह पूरे हो गए हैं। गाजीपुर बार्डर पर महापंचायत में राकेश टिकैत के अलावा संयुक्त किसान मोर्चा के पदाधिकारी संबोधित करेंगे।

Edited By: Prem Dutt Bhatt