मेरठ : जैन मुनि नयन सागर महाराज प्रकरण को लेकर जैन समाज आक्रोशित है। समाज के लोग दोषियों को सजा दिलाने और सच्चाई सामने लाने की जद्दोजहद में जुटे हैं।

इस मुद्दे को लेकर ऋषभ एकेडमी में शुक्रवार को हुई दिगंबर जैन समाज की बैठक में मेरठ, गाजियाबाद व दिल्ली के लोग शामिल हुए। सभी ने वायरल वीडियो को सच मानते हुए ऐसे कृत्य वाले व्यक्ति के बहिष्कार का आह्वान किया। सदर जैन समाज के अध्यक्ष रंजीत जैन और कालिंदी जैन समाज के संयोजक पंकज जैन के आह्वान पर हुई बैठक में वक्ताओं ने कहा कि यह वीडियो न सिर्फ शर्मनाक है, बल्कि लोगों की धार्मिक भावनाओं को भी आघात पहुंचा रहा है। यदि ऐसे विषय पर समाज मौन रहता है तो इसका संदेश यही जाएगा कि हम अनाचारी के साथ खड़े हैं। समाज को बदनाम करने वालों का बहिष्कार करने के साथ ही उन पर कठोर कानूनी कार्रवाई भी होनी चाहिए।

वक्ताओं ने माना कि परंपरा के विपरीत जब संत विलासी जीवनशैली अपनाएंगे तो उनमें अनाचार भी घर करने लगेंगे। केंद्रीय स्तर पर 15 अगस्त को जैन समाज द्वारा 15 सदस्यीय समिति का गठन किया जाना है। जैन समाज उसी निर्णय के इंतजार में है ताकि कार्यवाही की रूपरेखा तय हो सके। रंजीत जैन ने कहा कि 13 अगस्त को जैन समाज का प्रतिनिधिमंडल आइजी जोन से मिलकर मामले में एफआइआर दर्ज करने की मांग करेगा। विश्व जैन संगठन के अध्यक्ष संगम जैन, महिम जैन, हेमंत जैन, रजनीश जैन, सुशील जैन, अनिल जैन, संजय जैन व सुनील जैन ने भी विचार रखे।

By Jagran