मेरठ, जेएनएन। मेरठ में तेल का खेल सदा सदा से चला आया है। अगस्त 2019 में पेट्रोल पंपों पर तत्कालीन आइजी के निर्देश पर छापामारी करके धांधली पकड़ी गई थी। सितंबर महीने में परतापुर स्थित मिट्टी के तेल के गोदाम ने लगभग 71 हजार लीटर अतिरिक्त तेल बरामद हुआ था। इसके अतिरिक्त भी कार्रवाई हुई थी। अब भोला रोड पर एडीएम सिटी ने दो दिन पहले छापा मारकर अवैध पंप पकड़ा था, जिसमें पेट्रोल और डीजल की बिक्री की जा रही थी। जिला प्रशासन का कहना है कि कोरोना संकट सामान्य होने के बाद अब पुरानी सभी जांच में तेजी लाई जा रही है। आइओसीएल के उच्चाधिकारियों को जवाब के साथ बुलाया गया है।

एडीएम प्रशासन ने दिए निर्देश

एडीएम प्रशासन अजय तिवारी का कहना है कि इस प्रकार की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए संबंधित विभागों आपूर्ति, पुलिस आदि को दिशा निर्देश दे दिए गए हैं। कार्रवाई के नियम भी प्रत्येक विभाग के अपने-अपने हैं। इन विभागों में भी कर्मचारियों और अधिकारियों की कम संख्या का रोना रोया जाता है, जिसके चलते वे केवल आवश्यक कार्य ही कर पा रहे हैं, लेकिन अब सख्ती से काम कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण ने जांच को तीन महीने बाधित रखा। अब फिर से यह जांच शुरू होगी। कंपनी के उच्चाधिकारियों को जल्द बुलाया गया है।

हमने करा दी एफआइआर, अब पुलिस जांच करेगी

भोला रोड पर तो दिन पहले ही अवैध रूप से चल रहा पूरा पेट्रोल पंप चलता पकड़ा गया था। एडीएम सिटी अजय तिवारी का कहना है कि इस मामले में भी हमने रिपोर्ट दर्ज करा दी है। अब पुलिस इस खेल की जांच करेगी। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021