बागपत, जेएनएन। गोठरा के रिछपाल हत्याकांड की जांच हापुड़ क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर कर दी गई है। टीम इंस्पेक्टर ने गांव पहुंचकर मृतक के स्वजन से संबंध में जानकारी जुटाई। घटनास्थल का भी जायजा लिया।

यह था पूरा मामला

24 जुलाई की सुबह गोठरा जंगल में 55 वर्षीय रिछपाल पुत्र नेपाल का शव बल्ले पुत्र राजपाल के नलकूप के पास शीशम के पेड़ पर लगे फंदे पर लटका मिला था। छोटे भाई जग्गी के मुताबिक करीब सप्ताह भर से नेपाल गायब था। दो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था लेकिन बागपत पुलिस घटना में सिर्फ जांच करने का राग आलापती रही। चार माह में पुलिस ने दर्जनों संदिग्ध से पूछताछ की लेकिन राजफाश नहीं कर सकी।

पीड़ित स्वजन की मांग पर एडीजी राजीव सबरवाल ने विवेचना हापुड़ क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर कर दी। शुक्रवार को क्राइम ब्रांच की टीम इंस्पेक्टर नरेंद्र सिंह के नेतृत्व में गोठरा पहुंची। स्वजन से संबंधित जानकारी जुटाने के साथ घटनास्थल का भी जायजा लिया। बागपत पुलिस की कार्यशैली पर स्वजन कई बार विवेचना ट्रांसफर करने की मांग कर चुके थे। इंस्पेक्टर एमएस गिल का कहना है कि उच्चाधिकारियों के निर्देश पर विवेचना ट्रांसफर की गई है। संबंधित टीम का भरपूर सहयोग किया जाएगा।  

Edited By: Taruna Tayal