अंक सुधार के लिए यूपी बोर्ड की परीक्षाएं 18 को

मेरठ : यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं के छात्रों की अंक सुधार के लिए परीक्षा 18 सितंबर से शुरू होंगी। छह अक्टूबर तक प्रवेश परीक्षा चलेगी। वर्ष 2021 में जो छात्र बगैर अंक के उत्तीर्ण हुए थे, वे अंक सुधार के लिए परीक्षा दे सकेंगे। माध्यमिक शिक्षा परिषद की ओर से हाईस्कूल और इंटर की परीक्षा में अनुचित साधन के प्रयोग पर अंकुश लगाने के लिए दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं। परीक्षा में कोविड प्रोटोकाल का कड़ाई से पालन करने के लिए कहा गया है। परीक्षा के दौरान सभी शिक्षकों, छात्रों को मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है।

प्रयोगात्मक परीक्षा के नाम पर शुल्क वसूली : कोविड की वजह से इस बार सत्र 2020-21 में कोई प्रयोगात्मक परीक्षा नहीं कराई जा रही हैं। लिखित परीक्षा के अंक के आधार पर ही प्रैक्टिकल में अंक दिए जाएंगे। इसके बावजूद कई कालेज छात्रों को गुमराह कर प्रैक्टिकल के नाम पर शुल्क वसूल रहे हैं। छात्रों की शिकायत के बाद कुलपति प्रो. एनके तनेजा ने इसके गंभीरता से लिया है। संबंधित कालेजों को नोटिस जारी किया गया है। विवि ने साफ कर दिया है कि अगर प्रैक्टिकल के नाम पर छात्रों से शुल्क वसूली हुई तो कालेज के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

एमबीए में लें सीधे प्रवेश : डीएन डिग्री कालेज के इंदिरा गांधी मुक्त विश्वविद्यालय स्टडीज सेंटर में प्रवेश प्रक्रिया शुरू है। इसमें एमबीए जैसे पाठ्यक्रम में इस बार सीधे प्रवेश दिया जा रहा है। बिना किसी प्रवेश परीक्षा के स्नातक उत्तीर्ण छात्र-छात्राएं एमबीए में प्रवेश ले सकते हैं। एमबीए में प्रवेश के लिए कोई निर्धारित आयु सीमा नहीं है। यानी किसी भी आयु वर्ग के अभ्यर्थी इसमें प्रवेश ले सकते हैं। एमबीए में प्रवेश की अंतिम तिथि 30 सितंबर है।-जासं

Edited By: Jagran