मेरठ, जागरण संवाददाता। मेरठ में एलएलबी के छात्र सचिन यादव हत्याकांड के मुख्य आरोपित भाजपा नेता के चचेरे भाई कादिर की गिरफ्तारी पर शासन ने रिपोर्ट तलब की है। साथ ही उसे तत्काल गिरफ्तार करने के आदेश दिए है। पुलिस की जांच में सामने आया कि छात्र पर हमले की साजिश रचने वाला कादिर ही है। पुलिस को विश्वविद्यालय के कुछ वीडियो मिले है। उन वीडियो में महिला शिक्षिका से जतिन गुट अभद्रता करता हुआ दिखाई दे रहा है। इतना ही नहीं दूसरी वीडियो में सभी आरोपित डंडे लेकर कार में सवार होते दिखाई दे रहा है।

वर्चस्‍व को लेकर था विवाद

16 जून को गंगानगर स्थित आइआइएमटी विश्वविद्यालय से एलएलबी कर रहे सचिन यादव पर जानलेवा हमला किया था। विश्वविद्यालय की शिक्षिका को लेकर ही सचिन यादव और जतिन त्यागी गुट में वर्चस्व को लेकर विवाद चल रहा था। जतिन ने अपने साथियों के साथ सचिन यादव की गोली मारकर हत्या कर दी। इस हत्याकांड में जतिन, कादिर, कुलदीप और शिवांग समेत 25 छात्रों को नामजद किया था। पुलिस जतिन समेत आठ छात्रों को जेल भेज चुकी है।

अपराधिक हिस्ट्री शासन को भेजी

मुख्य आरोपित कादिर, कुलदीप और शिवांग अभी तक पकड़ से दूर बने हुए है। एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया कि शासन ने कादिर की गिरफ्तारी को लेकर रिपोर्ट मांगी है। उसकी अपराधिक हिस्ट्री शासन को भेज दी गई है। साथ ही गिरफ्तारी को टीम बनाकर सभी आरोपितों के घरों पर दबिश डाली जा रही है। फिलहाल सभी आरोपित फरार चल रहे है। उनकी लोकेशन अन्य राज्यों में आ रही है। परिवार के लोगों से संपर्क कर उन्हें सरेंडर करने की सलाह दी जा रही है।

अस्‍पताल में हो गई थी मौत

मेरठ में हमले के घायल आइआइएमटी से एलएलबी कर रहे छात्र सचिन यादव की बीते सोमवार को अस्‍पताल में मौत हो गई थी। पुलिस की जांच में सामने आया कि सचिन यादव पर कादिर की पिस्टल से गोली चलाई गई थी। यह पिस्टल कादिर को हिस्ट्रीशीटर अमित मरिंडा ने दी थी। वहीं एसएसपी प्रभाकर चौधरी का कहना है कि सचिन पर हमले के आरोपित सात छात्रों को जेल भेज दिया। अन्य नामजद आरोपितों की गिरफ्तारी को उनकी रिश्तेदारी में दबिश डाली जा रही है। जल्द ही सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जाएगा।

कादिर की पिस्टल से गोली चलाई

पुलिस ने कादिर बड्ढा, कुलदीप त्यागी, और शिवांग की गिरफ्तारी को दबिश डाली है। पुलिस की जांच में सामने आया कि सचिन यादव पर कादिर की पिस्टल से गोली चलाई गई थी। यह पिस्टल कादिर को हिस्ट्रीशीटर अमित मरिंडा ने दी थी। बताया जाता है कि आरोपित कादिर भाजपा के अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष बासित अली का चचेरा भाई है, हालांकि बासित अली ने कादिर से संबंध होने से इन्कार किया है। 

Edited By: Prem Dutt Bhatt