मेरठ, जागरण संवाददाता। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यक्रम से पहले गुरुवार को मेरठ में पुलिस ने रेल रोकने का ऐलान करने वाले भारतीय किसान यूनियन तोमर के पदाधिकारियों को घर पर ही नजरबंद कर दिया है। राष्ट्रीय अध्यक्ष संजीव तोमर के आहवान पर भाकियू तोमर गुट ने 11 नवंबर को दौराला में रेलवे ट्रैक पर रेल रोकने का ऐलान किया था।

रेलवे ट्रैक रोकने की तैयारी

मेरठ के युवा मंडल अध्यक्ष अनिल चिकारा के मुताबिक, गुरुवार को दोपहर दो से चार बजे तक दौराला रेलवे ट्रैक पर रोकने की तैयारी थी। 11 नवंबर को ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मेरठ में कृषि विश्वविद्यालय में आयोजित सम्मान समारोह में पैरालिंपिक खिलाड़ियों को सम्मानित करेंगे। मुख्यमंत्री के विरोध की आशंका को देखते हुए पुलिस ने भाकियू तोमर गुट के पदाधिकारियों को नजरबंद कर दिया।

यह मांगें रखी हैं

इसमें भाकियू तोमर युवा मंडल अध्यक्ष अनिल चिकारा को उनके घर ग्राम किशोरपुर में मवाना पुलिस ने नजरबंद किया है। वहीं, संगठन के जिलाध्यक्ष ओमवीर सिंह को जटपुरा में रोहटा पुलिस ने नजरबंद किया गया है। भाकियू तोमर गुट ने कृषि कानूनों की वापसी, एमएसपी पर कानून, बिजली के दाम कम करने और खादर क्षेत्र में पक्का बांध बनाए जाने की मांग रखी है।

22 नवंबर को महापंचायत की तैयारी, राकेश टिकैत लेंगे बैठक

मेरठ : लखीमपुर खीरी घटना के विरोध में भारतीय किसान यूनियन 22 नवंबर को लखनऊ में महापंचायत करने जा रही है। महापंचायत की तैयारी के लिए भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत आज से मंडलवार पदाधिकारियों के साथ समीक्षा करेंगे। इस क्रम में 11 नवंबर को आज मेरठ मंडल की समीक्षा होगी। जिसमें मेरठ मंडल के सभी जनपदों के पदाधिकारियों को गाजीपुर बार्डर पर समीक्षा के लिए बुलाया गया है। इसके बाद 12 नवंबर को मुरादाबाद, 13 नवंबर को सहारनपुर व 14 नवंबर को अलीगढ़ मंडल की समीक्षा होगी। गुरुवार को समीक्षा बैठक के लिए मेरठ मंडल के पदाधिकारी गाजीपुर बार्डर के लिए रवाना हो गए।

Edited By: Prem Dutt Bhatt