मेरठ,जेएनएन। क्षेत्रीय पर्यटन कार्यालय में सोमवार को विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर गोष्ठी आयोजित की गई। जिसका विषय पर्यटन समावेशी विकास की ओर रखा गया था। क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी अंजू चौधरी ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार ने पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं। पर्यटन को बढ़ावा देने में होटल का बड़ा योगदान होता है। ऐसे में होटल व उससे संबंधित कार्य के लिए सरकार तमाम सहूलियतें भी देती है। मेरठ इस मामले में अच्छा करने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने कहा कि उद्यमियों व रियल एस्टेट उद्यमियों को पर्यटन को ध्यान में रखकर भी कार्य करने चाहिए। उससे लाभ भी होता है और सरकार से सहायता भी मिलती है। इस दौरान होटल उद्यमियों व पर्यटन के क्षेत्र में कार्य करने वाले लोगों व संस्था के प्रतिनिधियों को सम्मानित भी किया गया।

उच्च न्यायालय ने तलब किए नगर आयुक्त व एमडीए वीसी : शहर में जाम की समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है। मेरठ विकास प्राधिकरण व नगर निगम ने इसके लिए अभी तक कोई इंतजाम नहीं किए। इसी को लेकर उच्च न्यायालय में एक जनहित याचिका दाखिल हुई थी। उसी की सुनवाई करते हुए मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति मुनीश्वर नाथ भंडारी एवं न्यायमूर्ति विवेक अग्रवाल ने चार अक्टूबर को अगली तिथि निश्चित की है। इसमें नगर आयुक्त व एमडीए वीसी को व्यक्तिगत रूप से पेश होने का आदेश दिया है।

याचिका में कहा गया है कि वाहन पार्किंग के लिए पार्किंग विकसित नहीं की गई। मल्टीलेवल कार पार्किंग के निर्माण में भी दोनों विभाग विफल रहे, जबकि दोनों विभागों की जिम्मेदारी है कि शहर को जाम से मुक्त करने के लिए पार्किंग स्थल की व्यवस्था करे।

Edited By: Jagran