मेरठ, जेएनएन। एमएच रोड पर औघड़नाथ मंदिर के पास शाम के चार बजे तेजगति में आ रही होंडासिटी फिल्मी स्टाइल में खंभे से टकरा गई। चालक ने कार के अगले हिस्से को तो खंभे से बचा लिया, जबकि पिछली खिड़की खंभे में टकरा गई। खिड़की के पास बैठे रिटायर्ड फौजी के बेटे की मौत हो गई, जबकि कार में सवार अन्य चार युवक गंभीर घायल हो गए, सभी को सेना के अस्पताल एमएच में भर्ती कराया। कार सवार युवक सभी आपस में दोस्त हैं, जो पिज़्ज़ा खाने के बाद आबूलेन से घर लौट रहे थे।

सरस्वती विहार निवासी प्रशांत कुमार पुत्र सत्यप्रकाश होंडा सिटी कार में पड़ोसी रवि कुमार पुत्र पवन कुमार एवं साथी टीपीनगर के रोहटा रोड स्थित गोलाबढ़ निवासी सूर्यसैन पुत्र अजय सैन और शिवम पुत्र बिजेंद्र निवासी दौराना हापुड़ तथा एक अन्य के साथ घूमने निकले थे। रोहटा रोड से सभी ने आबूलेन पर पिज़्ज़ा खाने का प्लान बनाया। आबूलेन पर कुछ शॉपिंग भी की। उसके बाद माल रोड से घर लौट रहे थे। औघड़नाथ मंदिर के पास कार की स्पीड तेज थी। तभी अचानक सामने से कार आ गई। उसे बचाने के चक्कर में प्रशांत ने साइड में लिया। स्पीड इतनी थी कि कार अनियंत्रित हो गई। अगला हिस्सा तो खंभे से टकराने बच गया, लेकिन कार की पीछे की खिड़की खंभे से टकरा गई, जिससे खिड़की के पास बैठे सूर्यसैन की मौके पर मौत हो गई। सूर्यसैन रिटायर्ड सेना हवलदार का बेटा था। हादसे में कार के परखच्चे उड़ गए। कार में बैठे अन्य साथी युवक भी गंभीर रूप से घायल हो गए। सूचना पर एसओ विजय गुप्ता फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे व घायलों सेना के अस्पताल में भर्ती कराया। हादसे के बाद मृत युवक के पिता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस