मेरठ,जेएनएन। हस्तिनापुर में मां दुर्गा महोत्सव में लगे विशाल पंडाल में श्रद्धालुओं की भीड़ के देवी के जयकारों से गुंजायमान संपूर्ण वातावरण पूरे नगर को भक्ति के रस में सराबोर कर रहा है। कस्बे में चल रहे मां दुर्गा पूजा महोत्सव के चौथे दिन भी भक्तों ने माता के मंदिर मे मत्था टेक कर मन्नत मांगी। शुक्रवार को विजयदशमी के दिन पूजा अर्चना के साथ महोत्सव का समापन हो जाएगा।

दुर्गा पूजा महोत्सव के चौथे दिन बंगाली बाजार स्थित सार्वजनिक दुर्गा मंदिर में पूजा अर्चना के पश्चात विधानाचार्य प्रदीप चक्रवर्ती ने कहा कि महा स्नान के बाद महानवमी की पूजा अर्चना की गई। जिसमें माता के 64 रूपों की आराधना की गई और सप्तशती पाठ किया गया। इसके पश्चात 108 बेलपत्रों द्वारा हवन कर नवग्रहों की पूजा की गई। इसके पश्चात दस दिग्पाल की पूजा-अर्चना पूर्ण की गई। सांयकाल में मां दुर्गा, लक्ष्मी, भगवान गणेश व काíतक आदि देवताओं की महापूजा कर मंगल आरती की गई। महोत्सव में कमेटी अध्यक्ष साधन साधु ने भी मां की महिमा का बखान किया। वहीं कस्बे की बी ब्लॉक, राम कृष्णा बांग्ला एकेडमी में भी पूजा महोत्सव चल रहा है। जिसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालु भाग ले रहे हैं।

रामनवमी पर मंदिर में विशेष पूजा अर्चना की : रामनवमी के अवसर पर मंदिरों में विशेष पूजा अर्चना की गई व भंडारे का आयोजन भी किया गया। लोगों ने परिवार सहित मां भगवती व भगवान श्रीराम की पूजा कर सुख-शांति व समृद्धि के लिए मनोकामना मांगी।

कर्ण मंदिर पर नौ दिनों से चल रही विशेष पूजा का गुरुवार को महायज्ञ के साथ समापन हो गया। मंदिर महंत शंकर देव महाराज ने बताया कि इस मौके पर भंडारे का भी आयोजन किया गया।

प्राचीन पांडव टीले पर स्थित श्री जयंती माता सिद्ध पीठ मंदिर पर विशेष पूजा अर्चना की व यज्ञ का आयोजन किया गया। राज्य मंत्री दिनेश खटीक ने परिवार सहित पूजा अर्चना की। इससे पूर्व रात्रि में जागरण का भी आयोजन किया गया। समिति अध्यक्ष सुदेश पप्पू ने बताया कि पिछले नौ दिनों से माता की पूजा अर्चना चल रही थी। इस मौके पर भंडारे का भी आयोजन किया गया।

Edited By: Jagran