शामली, जेएनएन। करनाल मंडी में गेहूं बेचने जा रहे उत्तर प्रदेश के किसानों को हरियाणा पुलिस ने सीमा पर रोक दिया। बिड़ौली में यमुना पुल पर ट्रैक्टर-ट्रालियों की कतार लगने से जाम लग गया। किसानों को मंडी में भीड़ होने का हवाला देकर वापस जाने को कहा गया, लेकिन किसान लौटने का तैयार नहीं थे। ऐसे में अन्य वाहनों को निकलने के लिए भी रास्ता नहीं मिला। देर शाम तक जाम की स्थिति को देखते हुए किसानों को हरियाणा सीमा में प्रवेश दे दिया गया।

करनाल मंडी में गेहूं बेचने जाते हैं यूपी के कई जिलों के किसान

उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में सरकार की ओर से क्रय केंद्र खोले गए हैं, लेकिन शामली के साथ सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, मेरठ समेत कई जिलों के किसान करनाल मंडी में गेहूं बेचने जाते हैं। बुधवार को भी हरियाणा पुलिस ने किसानों को गेहूं ले जाने से रोका था। हंगामा भी हुआ था और इसके बाद किसानों को जाने दिया गया था। दरअसल, पिछले दिनों हरियाणा के आढ़तियों ने दो दिन की हड़ताल रखी थी। ऐसे में करनाल की मंडी में भीड़ काफी अधिक रही और हरियाणा के किसानों से खरीद को प्राथमिकता भी दी जा रही है। आढ़तियों की ओर से किसानों को फोन कर अभी नहीं आने के लिए कहा जा रहा था, लेकिन पुलिस नहीं रोक रही थी। सरकार ने गेहूं की बढ़ी आवक के कारण शनिवार और रविवार को खरीद नहीं करने का निर्णय लिया है। उक्त दो दिनों में खरीदे गए गेहूं का उठान होगा। ऐसे में शनिवार को पुलिस ने सीमा पर किसानों को रोकना शुरू कर दिया और धीरे-धीरे गेहूं लदे ट्रैक्टर-ट्रालियों व अन्य वाहनों की कतार लग गई। बिड़ौली पुलिस चौकी प्रभारी पवन सैनी ने बताया कि दो दिन हरियाणा की मंडी में खरीद बंद होने के कारण वहीं की पुलिस ने किसानों को रोका गया। जाम की स्थिति को देखते हुए हरियाणा पुलिस से बात की गई और अब किसानों को हरियाणा की सीमा में प्रवेश दे दिया गया है। यातायात व्यवस्था भी देर शाम सुचारू हो गई।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप