मेरठ, [सुशील कुमार]। शहर में हिंसा यूं ही नहीं हुई। युवाओं को उसके लिए पिछले चार दिन से तैयार किया था। उन्हें मोटी रकम भी दी गई थी। शनिवार को शहर काजी और शहर कारी को पुलिस ने सभी फोटो और वीडियो दिखाई, जिसमें उन्होंने बवाली बाहर के बताए है। उससे साफ है कि दिल्ली से ही बवालियों को लाया गया है। सबसे अहम बात यह है कि सम्भल में भी बवाल के दौरान मारा गया व्यक्ति दिल्ली का रहने वाला है।

आठ हिस्सो में एक साथ बवाल

शुक्रवार को शहर के आठ हिस्सो में एक साथ बवाल किया गया। यह पूरी प्लानिंग से किया गया। बवाली समझ रहे थे कि एक साथ पुलिस उनकी घेराबंदी नहीं कर सकती है। इसलिए बवालियों ने पहले हापुड़ अड्डे पर पुलिस को छकाया। उसी समय लिसाड़ीगेट चौपले पर बवाल काटना शुरू कर दिया। खुफिया इनपुट मिला है कि दिल्ली से आए बवालियों ने लिसाड़ीगेट में रहने वाले युवकों को भ्रमित किया कि दिल्ली में आपके भाई लड़ाई लड़ रहे है। क्या आप उनकी कुर्बानी को यूं ही जाने दोंगे। सभी को बवाल करने के लिए बाध्य भी किया गया। यहां तक मामला सामने आया कि दिल्ली से पत्थर और फायङ्क्षरग करने वालों को मोटी रकम देकर लाया गया था। एडीजी प्रशांत कुमार का कहना है कि मेरठ ही नहीं सम्भल की ङ्क्षहसा में भी दिल्ली का युवक मारा गया है। ऐसे में साफ है कि बवाली दिल्ली के थे। उन्होंने बताया कि जोन में 250 बवालियों की गिरफ्तारी की जा चुकी है। शुक्रवार को हुई हिंसा के मामले की सभी फोटो पुलिस ने शहर काजी और शहर कारी को दिखाई थी। उन्होंने भी फोटो देखकर बताया कि कुछ बवाली शहर के बाहर से आए हुए है। हालांकि कुछ लोगों को बवाली की पड़ताल करने के लिए लगाया गया।

दिल्ली के बवालियों की हो रही पहचान

एसएसप अजय साहनी ने बताया कि दिल्ली पुलिस से भी संपर्क किया गया है। सभी फोटो वहां के अफसरों को भी भेजी जाएगी। ताकि उनकों चिन्हित करा सकें। साथ ही दिल्ली के बवालियों को हायर करने वाले मास्टरमाइड की भी पड़ताल की जा रही है। खत्ता रोड और बागपत रोड से जुड़े सभी पार्षदों की भी मीटिंग बुलाई गई है, जो बवालियों को चिन्हित करेंगे। उनसे सिर्फ शहर और बाहर के बवाली ही चिन्हित कराए जाएंगे।

एक नजर में...

  • 150 नामजद लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया
  • 5000 अज्ञात लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज
  • 05 हुई मेरठ में हिंसा में मारे गए लोगों की संख्या
  • 30 लोग अब तक हिंसा के आरोप में गिरफ्तार
  • 13 बलवाइयों को शनिवार को जेल भेजा गया
  • 09 मुकदमे शहर व देहात के सात थानों में दर्ज

Posted By: Taruna Tayal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस