सहारनपुर, जेएनएन। सहारनपुर में मंगलवार को भी पूर्व एमएलसी हाजी इकबाल और स्‍वजन पर प्रशासन की ओर से कार्रवाई जारी है। विकास प्राधिकरण के नियमों को ताक पर रखकर कोठियां बनाने वाले पूर्व एमएलसी हाजी इकबाल और उसके भाई महमूद अली की न्यू भगत सिंह कालोनी में स्थित दो कोठियों पर मंगलवार को बुलडोजर चलाया गया। इन कोठियों को पूरी तरह से ध्‍वस्‍त किया जाएगा।

कोठियां बनाने में नियमें की अनदेखी

सोमवार को भी पूर्व एमएलसी हाजी इकबाल और उनके भाई पूर्व एमएलसी महमूद अली की कोठी पर बुलडोजर चला था। बता दें कि हाजी इकबाल की कोठी को सामने और साइड से नौ फिट गिराया जाएगा, जबकि महमूद की कोठी को पूरी तरह से ध्वस्त किया जाएगा। जनकपुरी थाना क्षेत्र की न्यू भगत सिंह कॉलोनी में पूर्व एमएलसी हाजी इकबाल के द्वारा कोठी बनाई हुई थी। उसके भाई पूर्व एमएलसी महमूद अली ने भी उसी के बराबर में कोठी बनाई हुई है। विकास प्राधिकरण ने दोनों कोठियों की जांच की तो पता चला कि विकास प्राधिकरण के नियमों को पूरा न करते हुए यह कोठिया बनाई गई हैं।

प्राधिकरण ने भेजे तीन-तीन नोटिस

जिसके तहत पूर्व एमएलसी हाजी इकबाल और पूर्व एमएलसी महमूद अली को विकास प्राधिकरण की तरफ से तीन तीन नोटिस दिए गए, लेकिन एक भी नोटिस का जवाब नहीं दिया गया। जिसके बाद विकास प्राधिकरण की टीम पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंची और सोमवार को हाजी इकबाल की कोठी का वह हिस्सा तोड़ा गया जो अवैध था। जबकि उनके भाई महमूद अली की पूरी की पूरी कोठी अवैध है। इस कोठी का कुछ हिस्सा सोमवार को गिरा दिया गया था। मंगलवार को इस पूरी कोठी को ही गिराया जाएगा।अभी बुलडोजर की कार्रवाई चल रही है।

107 करोड़ रुपये की 125 संपत्ति कुर्क

बता दें कि खनन कारोबारी व पूर्व एमएलसी हाजी इकबाल तथा उसके परिवार से जुड़े लोगों की करीब 107 करोड़ रुपये की 125 संपत्तियों को कुर्क करने के आदेश पहले दिए गए थे। बाद में इन संपत्तियों को चिन्हित कर कुर्क करने की प्रक्रिया शुरू की गई थी। प्रशासन ने लगभग 400 बीघा जमीन पर कब्जा ले लिया था। गौरतलब है कि थाना मिर्जापुर में गैंगस्टर सहित अन्य थानों में मुकदमे दर्ज होने के बाद एसएसपी आकाश तोमर ने एसआइटी गठित कर जांच शुरू करा दी थी, जिसमें हाजी इकबाल के स्वजन तथा करीबी लोगों के नाम से बेनामी संपत्तियां चिन्हित की गईं थी।

इस प्रकार की गई थी कार्रवाई

पुलिस की जांच रिपोर्ट में चिन्हित की गई बेनामी संपत्तियों की कुर्की की कार्रवाई के आदेश जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने शुक्रवार को दिए थे। एसएसपी आकाश कुमार ने शनिवार सुबह 107 करोड़ रुपये की 125 संपत्तियों की कुर्की की कार्रवाई शुरू कराई। एसपी देहात सूरज राय व तहसीलदार प्रकाश सिंह की अगुवाई में अधिकारियों की टीम गांव शाहपुर गाड़ा के जंगल में पहुंची थी। डीएम अखिलेश सिंह ने बताया कि शाहपुर गाड़ा में पर्यावरण एवं जनकल्याण महिला विकास समिति के नाम से 20 बीघा और अपर माइन्स कंपनी के नाम से 15 बीघा भूमि है। टीम ने मौके पर मुनादी व माइक से अनाउंसमेंट कराकर इस भूमि को कब्जे में ले लिया था।

Edited By: Prem Dutt Bhatt