मेरठ, जेएनएन। देहलीगेट थाने में दर्ज तीन तलाक के मुकदमे में पुलिस ने जिम ट्रेनर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। प्रेम विवाह के बाद जिम ट्रेनर ने परिवार के साथ मिलकर पहले पत्नी की हत्या का प्रयास किया। उसके बाद तीन तलाक देकर घर से निकाल दिया। पीड़िता की तहरीर पर पुलिस ने जिम ट्रेनर के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया था।

देहलीगेट के बागपत गेट निवासी आफशा के ब्रह्मपुरी के तारापुरी निवासी जुनैद से प्रेम संबंध हो गए थे। 19 मार्च 2019 को दोनों का निकाह हो गया था। आफशा का कहना है कि ससुराल पक्ष के लोग पाच लाख और कार माग रहे हैं। इतनी मोटी रकम नहीं देने पर अक्सर उसके साथ मारपीट की गई। दो बार जान से मारने का भी प्रयास किया गया। पीड़िता के विरोध करने पर पति ने तीन तलाक देकर घर से निकाल दिया। आफशा की तहरीर पर देहलीगेट पुलिस ने तीन तलाक का मुकदमा दर्ज कर लिया। सीओ अरविंद चौरसिया ने बताया कि आरोपित जिम ट्रेनर को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया।

दो हिरासत में, पूछताछ जारी : सरधना थाना क्षेत्र के गांवों व कस्बे में बदमाशों ने बीते दिनों खाकी के इकबाल को चुनौती देकर कई बड़ी वारदात को अंजाम दिया था। जिससे पुलिस की गश्त की पोल खुल गई थी और मुकदमा दर्ज कर पीड़ित को जल्द ही बदमाशों के पकड़ने का आश्वासन दिया था। सूत्रों की मानें तो पुलिस व अन्य टीम ने बुधवार को बाहरी जिलों सहित अलग-अलग स्थानों से दो लोगों को हिरासत में लिया और पूछताछ शुरू कर दी, हालांकि पुलिस ऐसी किसी जानकारी से इन्कार कर रही है।

बीते दिनों व्यापारी से पांच लाख की रंगदारी मांगने का मामला प्रकाश में आया था। इस पर बदमाशों ने रुपये नहीं देने पर उसके बेटे को जान से मारने की धमकी दी थी। वहीं, बपारसी गांव के बाहरी छोर पर व कस्बे के शिवशक्ति नगर में चोरी हुई थी। उधर, कई जगह गोवंश के अवशेष भी बरामद हुए थे। हालांकि, पुलिस ने चंद आरोपितों को पकड़ कर अपनी पीठ थपथपाई थी। इसके अलावा मेहरमती-गणेशपुर में करीब 11 बदमाशों ने परिवार को बंधक बनाकर डकैती डाली थी। वहीं, इस संबंध में इंस्पेक्टर लक्ष्मण वर्मा ने गोलमोल जवाब दिया।

Edited By: Jagran