मेरठ, जेएनएन। कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र में 3 फरवरी की रात हाईवे पर डेरी के पास हुई निखिल उर्फ गुड्डन बाल्मीकि की हत्या प्रकरण में उसके दोस्त को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी से पूछताछ के बाद प्रकाश में आया कि गुड्डन का पड़ोस में रहने वाली युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था। गुड्डन अपनी प्रेमिका से जल्दी शादी करना चाह रहा था। इसी युवती से गौरव की दोस्ती थी। इसी के चलते गौरव ने गुड्डन को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया और पुलिस को सूचना दी थी कि गुड्डन की हत्या उसके पड़ोस में रहने वाले करण और रोहित ने की है। जिनके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज हुआ था। पुलिस ने आरोपी गौरव को गिरफ्तार कर लिया है।

यह है मामला

ब्रह्मपुरी थानाक्षेत्र माधवपुरम की बाल्मीकि बस्ती निवासी निखिल उर्फ गुड्डन पुत्र सवेंद्र कंकरखेडा हाईवे की डेरी पर काम करता था। इसी डेरी पर गुड्डन का दोस्त गौरव भी काम करता था। दोनों में गहरा दोस्ताना था। गौरव का माधवपुरम निवासी एक युवती से काफी समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था। किन्हीं कारण वश दोनों में ब्रेकअप हुआ और युवती ने गौरव को छोड़ पड़ोसी निखिल उर्फ गुड्डन से दोस्ती की। दोनों की दोस्ती परवान चढ़ी और प्यार में बदल गई। गुड्डन अपने प्यार से शादी करना चाहता था। युवती भी रजामंद थी। समय-समय पर गुड्डन अपने दोस्त गौरव से अपने प्यार और शादी की बात भी कर लेता था। जिसको लेकर गौरव गुड्डन से रंजिश रखता था। 3 फरवरी की रात घर से गुड्डन और गौरव डेरी पहुंचे, जहां किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया। गौरव ने तमंचे से गुड्डन को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। जिसके बाद गौरव ने ही कंट्रोल रूम को दो हमलावरों द्वारा गोली मारने की सूचना दी। इसमें कहा गया था कि बाइक सवार दो हमलावर आए और उसके दोस्त गुड्डन को गोली मारकर फरार हो गए। जिन रोहित और करण को आरोपी बनाया गया था, उनसे गुड्डन का पुराना झगड़ा था। इसी का फायदा उठाते हुए गौरव ने दोनों का नाम पुलिस और उसके परिजनों को बताया, ताकि किसी को शक ना हो और हत्या का आरोप करण और रोहित पर लग जाए। मृतक का भाई नकुल की तहरीर पर करण और रोहित के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया। 

Posted By: Taruna Tayal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस