बुलंदशहर, जेएनएन। कोरोना की इस महामारी में भी लोग अपनों के साथ ही दूसरों की जान खतरे में डालने से बाज नहीं आ रहे। पुलिस की नींद भी तब टूटती है जब स्थिति विस्फोटक हो जाती है। जून के अंत में बिहार के पटना में एक शादी समारोह में शामिल हुए सौ से अधिक बराती कोरोना की चपेट में आ गए थे। दूल्हे की मौत तक हो गई थी, लेकिन इस घटना से भी न तो यहां के लोग सबक ले रहे और न ही पुलिस। यहां भी बीसा कालोनी में एक व्यक्ति ने बिना अनुमति के अपने बेटे की शादी का रिसेप्शन कर डाला। पुलिस व स्वास्थ्य विभाग की आंख तब खुली जब इस समारोह में शामिल 28 लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आ गई। अब पुलिस ने दूल्हे के पिता के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

बीसा कालोनी निवासी प्रेमपाल ने 25 जून को अपने बेटे की शादी की थी। शादी में तो ज्यादा मेहमान व रिश्तेदार नहीं बुलाए। 28 जून को उन्होंने कालोनी में ही एक मकान में चोरी छिपे रिसेप्शन किया। बताया जा रहा है कि इस समारोह में 70-80 लोग शामिल हुए। यहां शारीरिक दूरी का भी पालन नहीं हुआ। एक दिन बाद पुलिस को इसकी जानकारी हुई तो रिसेप्शन में शामिल लोगों की खोजबीन शुरू हुई। प्रेमपाल ने अपने सभी रिश्तेदारों और दोस्तों के पते दिए।

इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की मदद से पुलिस ने रिसेप्शन में शामिल रहे लगभग सभी लोगों का कोरोना टेस्ट कराया। पांच जुलाई को आई रिपोर्ट में इनमें 28 लोग पॉजिटिव पाए गए थे। कुछ अन्य की रिपोर्ट अभी आनी बाकी है।

एसएसपी संतोष कुमार ङ्क्षसह का कहना है कि बिना अनुमति रिसेप्शन करने पर प्रेमपाल के खिलाफ शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया है। शहर कोतवाली प्रभारी अरुणा राय ने बताया कि मुकदमा खुद उन्होंने अपनी तरफ से दर्ज कराया है। मुकदमा जमानती धाराओं में दर्ज हुआ है, लिहाजा प्रेमपाल की गिरफ्तारी नहीं हो सकती।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस