संजीव तोमर, मोदीपुरम: राज्यपाल आनंदीबेन पटेल सितंबर के अंत तक सरदार वल्लभभाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिक विवि और किसी एक कृषि विज्ञान केंद्र (केवीके) का भ्रमण कर सकती हैं। हालांकि राज्यपाल के आगमन की तिथि अभी तय नहीं है। उधर, सूत्रों के अनुसार राज्यपाल का भ्रमण तय है। इसे लेकर विवि प्रशासन अलर्ट हो गया है। विवि परिसर के अलावा केवीके में रंगाई-पुताई और साफ-सफाई का कार्य शुरू हो गया है।

सरदार वल्लभभाई पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिकी विवि के कार्यक्षेत्र वाले 17 जिलों में 20 केवीके हैं। विवि सूत्रों के अनुसार राज्यपाल आनंदीबेन पटेल सितंबर के अंत तक किसी भी तारीख को आ सकती हैं। हालांकि अभी तक राजभवन से राज्यपाल के आने की तारीख तय नहीं है। राज्यपाल के भ्रमण की सूचना मात्र से ही विवि प्रशासन ने अपने स्तर से कार्य करने शुरू कर दिए हैं। जल्द ही कुलपति के नेतृत्व में बैठक का आयोजन होगा, जिसमें टीमें बनाकर राज्यपाल के कार्यक्रम की जिम्मेदारी दी जाएगी।

इन जिलों में हैं 20 केवीके केंद्र

कृषि विवि के कार्य क्षेत्र वाले जिले मेरठ, पीलीभीत, बरेली, शाहजहांपुर, रामपुर, मुरादाबाद, हापुड़, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, शामली, सहारनपुर, गाजियाबाद, बागपत, गौतमबुद्धनगर, बुलंदशहर, अमरोहा, सम्भल में करीब 20 केवीके केंद्र हैं। इन केंद्रों पर कृषि विज्ञानी संबंधित गांवों में समय-समय पर कैंप लगाकर किसानों को नई तकनीक से फसल की बुवाई, निराई और कटाई की जानकारी देने के अलावा खेती से दोगुना आमदनी कैसे हो सकती है, इसकी बारीकी से जानकारी देते हैं। इनका कहना है

सितंबर के अंत तक राज्यपाल का कृषि विवि परिसर और केवीके का भ्रमण हो सकता है। अभी तारीख तय नहीं है। हमने अपने स्तर से तैयारियां शुरू कर दी हैं।

डा. आरके मित्तल, कुलपति, कृषि विवि।

Edited By: Jagran