मेरठ, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की घोषणा के बाद चौ. चरण सिंह कांवड़ पटरी मार्ग के डबल-लेन निर्माण के लिए हरी झंडी मिल गई है। शासन ने पटरी के दायीं ओर सात मीटर छोड़कर टू-लेन तैयार करने पर मुहर लगा दी है। अब लोनिवि अफसरों को अगले सात दिन में डीपीआर (डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट) तैयार कर भेजने के आदेश मिले हैं। प्रमुख सचिव परिवहन व जनपद के नोडल अधिकारी राजेश कुमार सिंह ने इस संबंध में निरीक्षण के दौरान बैठक में आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सड़क निर्माण में दुर्घटना के दृष्टिगत रोड सेफ्टी के समुचित प्रबंध किए जाएं।

घोषणा से लेकर फाइनल मुहर तक

पिछले वर्ष मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांवड़ पटरी मार्ग के दोहरीकरण की घोषणा की थी। मोदीनगर से मंगलौर तक कांवड़ गंगनहर पटरी की लंबाई कुल 114.2 किमी है। शासन के निर्देश पर लोनिवि ने गंगनहर पटरी के दोनों ओर के दो प्रस्ताव बनाकर भेजे थे। इसमें बायीं ओर 852 करोड़ व दायीं ओर 589 करोड़ का एस्टीमेट शामिल था।

दायीं तरफ सात मीटर छोड़ी जाएगी जगह

लोक निर्माण विभाग निर्माण खंड (भवन) के अधिशासी अभियंता सीपी सिंह ने बताया कि शुक्रवार को ही शासन से कांवड़ पटरी मार्ग के डबल लेन निर्माण के लिए दायीं तरफ प्रोजेक्ट पर सहमति मिली है। गंगनहर के डोले से सात मीटर छोड़कर डीपीआर भेजने के आदेश मिले हैं। इसमें सात मीटर की काली सड़क तैयार की जाएगी। 2.5 मीटर की दो पटरी भी शामिल रहेंगी।

विभागों को जारी किए पत्र

कांवड़ पटरी मार्ग की दिशा फाइनल होने के बाद लोक निर्माण विभाग ने वन विभाग, हाइडिल, सेतु निगम को पत्र जारी कर अपनी लागत भेजने के लिए कहा है। ये सभी विभाग भी अपनी लागत इस डीपीआर में जोड़कर तैयार करेंगे। इस प्रोजेक्ट के लिए 50 करोड़ की धनराशि पूर्व में स्वीकृत है, जिसे मार्च 2020 तक उपयोग में लाना है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप