मेरठ, जेएनएन। परतापुर तिराहे पर दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे का इंटरचेंज बना है। इसके अब सभी रास्ते खोल दिए गए हैं। तिराहे पर अब मेरठ से मोदीनगर व एक्सप्रेस-वे की तरफ जाने के लिए दो-दो रास्ते हो गए है। मोदीनगर से देहरादून की तरफ जाने के लिए भी दो रास्ते हो गए हैं। चालक अपनी सुविधा के अनुसार कोई भी रास्ता चुन सकते हैं।

मेरठ के वाहन जब मोदीनगर या फिर दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे की तरफ जाने के लिए परतापुर रेलवे ओवरब्रिज से उतरते हैं तो बिल्कुल सामने दो रास्ते दिखाई देते हैं। एक रास्ता बाएं हाथ के सामने दिखाई देता है। यह रास्ता पेट्रोल पंप के किनारे से होता हुआ आगे निकलता है। इसके वाहन चाहें तो सीधे मोदीनगर की तरफ चले जाएं या फिर चाहें तो भूड़बराल गांव की सीमा के पास यूटर्न से मुड़कर एक्सप्रेस-वे या फिर देहरादून बाईपास की तरफ चले जाएं। दाएं हाथ के सामने दूसरा रास्ता एक अंडरपास के नीचे लेकर जाता है। इसमें से गुजरने पर भी पहले की ही तरह चाहे मोदीनगर की तरफ जाएं या फिर एक्सप्रेस-वे की ओर जाएं। वहीं देहरादून की तरफ जाने वालों के लिए भी दो रास्ता हो गया है। मोदीनगर की तरफ से आने वाले या फिर भूड़बराल यूटर्न से जब कोई वाहन देहरादून बाईपास की तरफ बढ़ता है तो उसे दो रास्तों का विकल्प मिलता है। बाएं हाथ के सामने वाली रोड पर चलने से वह चाहे तो एक्सप्रेस-वे पर चला जाए या फिर देहरादून या फिर मेरठ शहर की ओर। यदि मोदीनगर या भूड़बराल यूटर्न से आने वाला वाहन एक्सप्रेस-वे पर या फिर मेरठ नहीं जाना चाहता है। वह देहरादून बाईपास की तरफ जाना चाहता है तो उसे दाएं हाथ के सामने दिखाई दे रहे रास्ते पर जाना चाहिए।

मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस-वे पर एबीईएस रेलवे ओवरब्रिज के गार्डर रखने का काम आज यानी बृहस्पतिवार से शुरू हो जाएगा। इसके चलते गुरुवार से 24 अप्रैल तक रात के समय गार्डर रखने का काम किया जाएगा। इसके चलते आज से 24 के बीच एबीइएस के पास एनएच-9, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर डायवर्जन किया जाएगा। यह डायवर्जन रात 12 बजे से सुबह चार बजे तक रहेगा। एसपी यातायात रामानंद कुशवाहा ने बताया कि बृहस्पतिवार रात से एबीईएस कालेज रेलवे पुल के गार्डर लांचिंग का काम शुरू किया जाएगा। इस मार्ग पर रात के समय 24 अप्रैल तक डायवर्जन रहेगा। वाहनों को अन्य मार्गो से निकाला जाएगा।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021