मेरठ, जेएनएन। कोरोना महामारी के चलते वर्ष 2020-21 में विधायक निधि जारी नहीं की गई थी। लेकिन अब वर्ष 2021-22 के लिए हर विधायक को तीन-तीन करोड़ की राशि जारी कर दी गई है। विधायकों से विकास कार्यो के प्रस्ताव भी मांगे गए हैं। लेकिन तमाम कारणों से विकास कार्यो के प्रस्ताव प्राप्त नहीं हो सके हैं। हालांकि प्रशासन को प्रस्ताव उपलब्ध कराने में हस्तिनापुर विधायक पहले नंबर पर हैं, जबकि सिवालखास विधायक दूसरे नंबर पर हैं।

खर्च नहीं हो सकी निधि

वर्ष 2017-18 में जारी विधायक निधि का बजट भी बचा हुआ है। जिसमें विधानसभा सरधना में 2.62 लाख, दक्षिण में 5.86 लाख, सदर में 1.45 लाख, कैंट में 3.75 लाख, सिवालखास में 3.39 लाख और किठौर में 16.58 लाख का बजट अभी भी बचा हुआ है।

प्रस्ताव का हो रहा इंतजार

अब वर्ष 2021-22 के लिए जारी हुई तीन-तीन करोड़ की विधायक निधि के लिए भी प्रस्तावों का इंतजार हो रहा है। विधानसभा सरधना में 2.70 करोड़, हस्तिनापुर में 3.77 लाख, किठौर में 2.81 करोड़, मेरठ दक्षिण में 2.10 करोड़, कैंट में 2.82 करोड़, सिवालखास में 1.38 करोड़ व शहर में 2.62 करोड़ रुपये की धनराशि बची हुई है।

जनपद की विधानसभा की स्थिति कैंट विधानसभा

वर्ष जारी धनराशि स्वीकृत अवशेष

2017-22 9.13 5.78 3.34

-----

मेरठ दक्षिण विधानसभा

वर्ष धनराशि स्वीकृत अवशेष

2017-22 9.12 6.50 2.61

----

हस्तिनापुर विधानसभा

वर्ष धनराशि स्वीकृत अवशेष

2017-22 9.10 9.07 3.77

-----

किठौर विधानसभा

वर्ष धनराशि स्वीकृत अवशेष

2017-22 9.10 6.12 2.98

---

सरधना विधानसभा

वर्ष धनराशि स्वीकृत अवशेष

2017-22 9.07 6.39 2.70

----

सिवालखास विधानसभा

वर्ष धनराशि स्वीकृत अवशेष

2017-22 9.11 7.73 1.38

----

मेरठ शहर विधानसभा

वर्ष धनराशि स्वीकृत अवशेष

2017-22 9.10 6.06 3.03

नोट: उपरोक्त धनराशि करोड़ रुपये में है। इन्होंने कहा कि..

विधायक निधि से विकास कार्य कराने के लगातार प्रस्ताव प्राप्त हो रहे हैं। प्रस्तावों पर कार्य भी खूब कराया जा रहा है। प्राप्त हुए कुछ प्रस्तावों का परीक्षण कराकर शीघ्र ही विकास कार्य शुरू कराए जाएंगे।

शशांक चौधरी, सीडीओ

Edited By: Jagran