सर्वेद्र पुंडीर, मेरठ

मेरठ की धरती पर जिस दिन सूबे के मुखिया बहू-बेटियों की अस्मत से खिलवाड़ न हो इसके लिए पुलिस को सख्त निर्देश दे रहे थे, उसी दिन सभा स्थल से लगभग 25 किलोमीटर दूर एक बेटी ने छेड़छाड़ से तंग आ खुद को आग लगा ली।

छह जनवरी को प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ मेरठ के मोहिउद्दीनपुर में चीनी मिल का उद्घाटन करने के लिए आए थे। उन्होंने सख्ती से निर्देश देते हुए कहा था कि बहू-बेटियों के साथ अपराध करने वालों के साथ भी वैसा ही बर्ताव करें, जैसा पेशेवर अपराधी के साथ हो रहा है। जिस दिन इस भाषण को पुलिस और मेरठ की जनता सुन रही थी। उसी दिन एक आठवीं की छात्रा ने मनचलों से प्रताड़ित होकर खुद को आग लगा ली। गुरुवार सुबह छात्रा के बारे में पुलिस को पता चला। दिन में तो पुलिस कार्रवाई नहीं कर पाई, लेकिन गुरुवार देर रात तक तीन आरोपी शोभित, रवि, अंकित को पकड़ लिया गया।

हर दिन होती है स्कूल कॉलेजों के बाहर छेड़छाड़

शायद ही ऐसा कोई दिन हो, जिस दिन छात्राओं के साथ छेड़छाड़ न होती हो। दो दिन पहले ही मेरठ कॉलेज के बाहर एक छात्रा से छेड़छाड़ का विरोध करने पर एक छात्र पर गोलियां चला दी गई। पुलिस ने इस वारदात के आरोपियों को पकड़ने के बजाए पर्दा डाल दिया। अभी तक भी नहीं पता कि आरोपी कौन थे?

-----------

छेड़छाड़ को लेकर पुलिस सख्त है। महिला थाना के अलावा सभी थानों में छेड़छाड़ रोकने के लिए टीमें बनाई गई हैं। शक्ति मोबाइल के अलावा एंटी रोमियो भी छेड़छाड़ को रोकती है।

-मंजिल सैनी, एसएसपी

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस