मेरठ,जेएनएन। कार सवार युवक गुरुवार को नौचंदी थानांतर्गत जयदेवी नगर से 10वीं की छात्रा को अगवा कर ले गए। कप्तान ने तत्काल मुकदमा दर्ज कर क्राइम ब्रांच व थाना पुलिस को लगाया। मुरादाबाद पुलिस ने जिले के भोजपुर थानांतर्गत रुस्तमपुर तिगरी गांव में खंडहर से छात्रा को मुक्त कराया। क्राइम ब्रांच व नौचंदी पुलिस ने भोजपुर पहुंचकर छात्रा को कब्जे में ले लिया।
घर से अगवा कर ले गया
जयदेवी नगर की पंचवटी कालोनी में एक परिवार रहता है। उनकी कक्षा दस में पढ़ने वाली बेटी के मोबाइल पर मुरादाबाद के मुगलपुरा,जामा मस्जिद के पास रहने वाले फैजान ने सोमवार को काल की और उसके परिवार व घर के बारे में जानकारी ली। गुरुवार दोपहर करीब 11 बजे फैजान अपने कुछ दोस्तों के साथ कार से पहुंचा और घर के अंदर घुसकर किशोरी को साथ ले गया। घर के अंदर सामान भी बिखरा पड़ा था।
मां को घर पहुंचने पर चला पता
किशोरी की मां उसकी छोटी बहन का उपचार कराने के बाद अस्पताल से घर पहुंचीं तो मंजर देखकर परिवार के लोगों को घटना की जानकारी दी। परिजनों ने नौचंदी थाने में छात्र के अपहरण का मुकदमा अज्ञात में दर्ज कराया। कप्तान ने नौचंदी पुलिस व क्राइम ब्रांच को छात्र की तलाश में लगाया। छात्र के मोबाइल की कॉल डिटेल निकाली गई,लेकिन पुलिस को खास मदद नहीं मिल पाई। पुलिस छात्रा की तलाश कर रही थी।
आज कोर्ट में दर्ज होंगे बयान
इसी बीच गुरुवार को मुरादाबाद के भोजपुर थानांतर्गत रुस्तमपुर तिगरी के ग्रामीणों ने स्थानीय थाना पुलिस को जानकारी दी कि मुगलपुरा,जामा मस्जिद निवासी फैजान ने गांव के खंडहर में छात्रा को बंधक बना रखा है। एसएसआइ ने टीम के साथ किशोरी व फैजान को बरामद कर लिया और थाने ले गई। जानकारी मिलने पर मेरठ की नौचंदी पुलिस व क्राइम ब्रांच के साथ परिजन भोजपुर थाने पहुंचे और छात्र व फैजान को कब्जे में ले लिया। दोनों को नौचंदी थाने लाया गया। किशोरी को परिजनों को सौंप दिया गया, जबकि फैजान से उसके साथियों के बारे में जानकारी की जा रही थी। इंस्पेक्टर नीरज कुमार ने बताया कि शनिवार को किशोरी का मेडिकल व कोर्ट में बयान दर्ज कराया जाएगा।
हिंदू संगठन के लोगों ने किया हंगामा
मामला दो संप्रदाय का होने की जानकारी के बाद हिंदू संगठन के कार्यकर्ता भी नौचंदी थाने पहुंच गए और हंगामा कर आरोपित के पूरे गिरोह को गिरफ्तार करने की मांग की। साथ ही फैजान किस तरह किशोरियों से संपर्क करता है, उससे पूरी तरह पूछताछ की भी मांग की। इंस्पेक्टर के निष्पक्ष कार्रवाई का भरोसा देने पर संगठन के लोग लौटे।
इनका कहना है
मोबाइल पर मिस कॉल से किशोरी मुरादाबाद के फैजान के संपर्क में आ गई थी। पुलिस ने किशोरी को 12 घंटे में बरामद कर लिया है। फैजान के बाकी साथियों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।
- डॉ.अखिलेश नारायण सिंह,एसपी सिटी 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ashu Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप